हरे-भरे घने जंगल के बीच स्थित यह झरना जबलपुर की शान है! रास्ते है और भी खूबसूरत!

घने जंगल के बीच के ख़ूबसूरत सा झरना इतना मनोहारी दृश्य बनाता है कि कोई भी पर्यटक खुद को यहाँ जाने से रोक नहीं सकता। चारो तरफ हरियाली ही हरियाली, ऊँचे घने पेड़ उसके बीच पहाड़ो से उतरता झरना लोगों को अपनी तरफ बहुत ही ज्यादा अट्रैक्ट करता है।

निदान फाल जबलपुर जिले के कटंगी में स्थित एक ख़ूबसूरत झरना है। जब आप जबलपुर से कटंगी जायेंगे तो उस वक्त रास्ते में यह झरना देखने को मिलता है। देखने में इतना सुन्दर लगेगा कि मन करेगा वही रुक जाए।

यह झरना जबलपुर से दमोह हाइवे रोड पर स्थित है। आपको यहाँ अपनी गाड़ी से ही जाना पड़ेगा क्योंकि यह जंगल में स्थित है। यदि आप पैदल है तो दमोह हाइवे रोड़ पर आपको बस भी मिल जाएगी, लेकिन बस से आप केवल मैन रोड़ तक ही आ सकते है, उसके बाद यहाँ से आपको लगभग 2 से 3 किलोमीटर की दूरी पैदल तय करनी पड़ेगी।

जैसे ही आप झरने के और नजदीक आ जायेंगे तो यहाँ आपको घने ऊँचे पेड़ और चारो तरफ पहाड़ दिखने लगेंगे। यहाँ आने का सबसे अच्छा समय बारिश का है जब चारो तरफ की हरियाली और पानी बढ़ जाता है।

ये भी पढ़ें: मध्यप्रदेश के इस जगह पर आएगी विदेश वाली फीलिंग, तस्वीरें देख दिल गदगद हो जायेगा

सुबह सुबह यहाँ पर जल्दी आना सबसे बेस्ट है, क्योंकि सुबह की लालिमा ही अलग होती है। यहाँ आने के बाद आपको स्वर्ग जेसी अनुभूति होगी। ऊंची पहाड़ियां के ऊपर से गिरता हुआ पानी एक कुंड में गिरता है। यह सब देखने में बहुत अच्छा लगता है। यहाँ कुंड में नहाने के लिए मना है। क्यूंकि कुंड का पानी गहरा है।

ये भी पढ़ें: प्रकृति का अद्भुत करिश्मा है यह पत्थर, देश-विदेश से देखने आते है पर्यटक

इस जगह पर 2 झरने है और दोनो ही विपरीत दिशा में है। यहां पर दूसरी जगह का जो झरना है उसका कुंड थोडा छोटा है। यहां आपको नहाने के लिए मनाई नही है। यदि आप यह घूमने आते हैं तो कुछ खाने पीने के लिए साथ लाए। यहां पर दुकानें नही है। क्यूंकि यह पुरा एरिया जंगल में है। यहां पर गाड़ी रखने का किराया 20 रुपय है।

ये भी पढ़ें: बांधवगढ़ का ट्री हाउस हाईडवे देता है जंगल के बीच रहने का एक नया अनुभव

यहां के शांत वातावरण में आप काफी सुकून महसूस करेंगे, इसलिए अगर आप जबलपुर आएं तो इस अद्भुत जगह को देखने जरूर जाएं। जबलपुर में ऐसे और भी स्थल है, जहाँ आप घूमने जा सकते हैं जिनमें बैलेंसिंग रॉक, भेड़ाघाट, मदन महल, तिलवारा घाट, मोम संग्रहालय नाहरगढ़ किला आदि प्रमुख है।


ये भी पढ़ें: