किसी को नहीं पता ! ये हे भारत का दूसरा बेहद अनोखा व खूबसूरत ताजमहल। गुजरात में छिपी है ये अद्भुत विरासत

दुनिया के 7 अजूबों में से एक आगरा में स्थित ताजमहल के बारे में कौन नहीं जानता…. और आखिर क्यों नहीं जानेंगे, इसकी ख़ूबसूरती हर किसी का मन मोह लेती है। लेकिन अगर हम आपको बताएं की हिन्दुस्तान में बेहद खूबसूरत और बेहद अनोखा ताजमहल एक और भी है तो क्या आप यकीन करेंगे??

जी हाँ आपने सही पढ़ा जब हमें इस अद्भुत इमारत के बारे में पता लगा था तो हम भी बेहद आश्चर्यचकित थे कि इतनी खूबसूरत जगह कैसे अभी तक अघिकतर पर्यटकों कि नज़र से दूर है। और हमने तुरंत इस जगह जाने का निश्चय कर लिया।

हम बात कर रहे हैं गुजरात के जूनागढ़ जिले में स्थित महाबत मक़बरे के बारे में जिसके लिए हम यकीन से कह सकते हैं कि जब भी आप इस शानदार वास्तुकला के नमूने को देखेंगे तो इसकी नक्काशी और संपूर्ण कारीगरी के आप कायल हो जायेंगे। तो चलिए ले चलते है आपको हमारी महाबत मक़बरे कि यात्रा पर…

ये भी पढ़ें: रोड ट्रिप के लिए बिहार में है ये बेहतरीन जगहें, दोस्तों के साथ यहाँ बिताएं अपना वीकेंड

हम थे हमारी गुजरात यात्रा पर और जैसा कि हमने बताया कि इस जगह के बारे में पता लगते ही हम इसकी तरफ चल दिए। जूनागढ़ शहर में स्थित इस मक़बरे में हम जब पहुंचने वाले थे तो कुछ दूर से ही हमें इसकी पहली झलक मिली और हम समझ गए कि यहाँ आने का हमारा निश्चय एकदम सही था। पास जाने के बाद पता चला कि ये जगह अभी तक किसी टूरिस्ट प्लेस जैसे तैयार नहीं थी मतलब वहां हमें किसी टिकट वगरैह और पार्किंग वगैरह कि कोई व्यवस्था नहीं दिखी।

लोगों के कहे अनुसार हमने कार वहीं रोड के साइड में पार्क कर दी और अंदर गए। वहां अंदर जाकर देखा तो हमें पता लगा कि वहां इस खूबसूरत विरासत को निखारने का काम चल रहा था। लेकिन काफी हद तक ये काम पूरा हो चूका था इसलिए जब पहली नज़र इन इमारतों पर पड़ी तो एक बार में तो ये हमें अलादीन में दिखाए गए महल जैसा लगा। बिलकुल लग ही नहीं रहा था कि इतनी खूबसूरत जगह सच में यहाँ मौजूद है।

ये भी पढ़ें: दिल्ली के करीब ढूंढ रहे हैं वीकेंड गेटवे, भीड़ से दूर ये है सुकून भरी खूबसूरत जगह !

वहां आगे जाने लगे तो वहां काम कर रहे लोगों ने हमें इनके अंदर जाने से रोका क्योंकि वहां अभी काम चल रहा था और हमसे कहा कि आप बाहर से इसे आराम से देख सकते है और जितनी चाहे उतनी तस्वीरें भी क्लिक कर सकते हैं। हमारे लिए इतना भी काफी था और बस हम शुरू हो गए कुछ शानदार यादें फोटो और वीडियो में सेव करने के लिए।

महाबत मक़बरा 19 वीं सदी में बना एक शानदार वास्तुकला का नमूना है। पीली दीवारों वाले परिसर का निर्माण 1878 में महाबत खानजी द्वारा शुरू किया गया था और 1892 में उनके उत्तराधिकारी बहादुर खानजी द्वारा पूरा किया गया था।

और पढ़ें: वैष्णों देवी जाएं तो, उसके पास की यह खूबसूरत जगहें हर घुमक्कड़ को जरूर देखनी चाहिए

यहां महाबत मकबरा और बहाउद्दीन मकबरा दोनो एक ही परिसर में स्थित हैं। चाहे यहाँ के खंभे हों, खूबसूरत खिड़कियां हों, मेहराब हों या फिर उन दीवारों कि गयी शानदार नक्काशी हो, महाबत मक़बरा एक वास्तुकला का आश्चर्य निश्चित तौर पर है। और तो और इसमें अनोखी सीढ़ियाँ भी हैं जो मीनारों और गुंबदों को घेरती हुई बनी हैं जो इस स्मारक की सुंदरता में चार चांद लगा देती हैं।

हमें खुशी है कि प्रशासन ने आख़िरकार इस अनमोल विरासत के जीर्णोद्वार का सोचा और उम्मीद है कि जल्द ही ये जगह भारत के बेहद महत्वपूर्ण और सबसे ज्यादा जाने वाले पर्यटन स्थलों में से एक बन जायेगा। वहां हमें कुछ पुरानी तस्वीरें भी दिखाई दी जो इसके जीर्णोद्वार से पहले कि थीं।

तो हम यही कहना चाहेंगे कि अगर आप गुजरात के जूनागढ़ के आस पास है या फिर वहां जाने का प्लान कर रहे हैं तो इस जगह को मिस बिलकुल भी न करें और तुरंत इस जगह जाने का प्लान कर लें। हम आपको निश्चिंत कर सकते हैं कि आपका वहां जाना बिलकुल भी व्यर्थ नहीं जायेगा।

इसके दूसरी तरफ भी एक ईमारत है और वो भी बहुत खूबसूरत है लेकिन वहां भी काम चल रहा था तो हम उसे अच्छे से नहीं देख पाए।

ये भी पढ़ें: राजस्थान का ये छिपा हुआ ‘100 द्वीपों का शहर’ मानसून में बन जाता है स्वर्ग। जाने यहाँ के कुछ खूबसूरत पर्यटन स्थल

तो अगर आप इसके बारे में और ज्यादा जानना चाहते हैं और अगर ऐसी ही और भी छिपी हुई जगहों के बारे में जानना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए लिंक के द्वारा हमारे Youtube चैनल WE and IHANA  पर भी जा सकते हैं।

यूट्यूब चैनल लिंक:

https://youtube.com/c/WEandIHANA

यहाँ कैसे पहुंचे?

निकटतम एयरपोर्ट कि बात करें तो राजकोट एयरपोर्ट 103 और पोरबंदर एयरपोर्ट 105 किलोमीटर दूर हैं और रेल और सड़क मार्ग द्वारा जूनागढ़ गुजरात और देश के महत्वपूर्ण शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।