Cherrapunji of South: यह है दक्षिण भारत का “चेरापूंजी”, मानसून आते ही बन जाता है स्वर्ग

Cherrapunji of South

बारिश के महीने में वैसे तो लोग अपने घरों में ही रहना पसंद करते है लेकिन घुमक्कड़ी के दीवाने इस मौसम में भी कुछ न कुछ तलाशते ही रहते है।

वैसे तो यह मौसम घूमने के लिए उतना सेफ नहीं माना जाता है लेकिन इस मौसम में प्रकृति अपने सबसे अधिक रंग बिखेरती है।

यह वही मौसम है जब चारों तरफ हरियाली, नदियां, झीलें और झरने सब उफान पर होते है। कुल मिलकर मानसून के दौरान सफर करना किसी जन्नत की सफर से कम नहीं होता है।

और इसी जन्नत की तलाश में घुमक्कड़ी की दुनिया को पता लगा दक्षिण भारत के एक स्पेशल हिल स्टेशन अगुम्बे (Agumbe) के बारे में, इस जगह को दक्षिण भारत का “चेरापूंजी” भी कहा जाता है। तो आइए चलते है यहाँ की यात्रा पर-

दक्षिण भारत का “चेरापूंजी”

अगुम्बे कर्नाटक में स्थित एक खूबसूरत प्राकृतिक गंतव्य है जो मानसून के दौरान स्वर्ग जैसा बन जाती है। राज्य के शिमोगा जिल में स्थित अगुम्बे समुद्र तल से 2725 फीट की ऊंचाई पर स्थित है।

यहां साल भर भारी बारिश होती है, इसलिए इस स्थान को दक्षिण का चेरापूंजी भी कहा जाता है। आर.के नारायण की टीवी सीरीज ‘मालगुडी डेज़’ का काल्पनिक गांव यहीं अगुम्बे में स्थापित किया गया था।

झरने इतने की गिन न सके

अगर आप अगुम्बे घूमने जाते हैं तो वहां आस-पास और भी बहुत कुछ है देखने को यहाँ कई झरने है, जैसे कि बरकना झरना, कुंचिकल झरना, ओनांक अबी झरना, जोगीगुंडी झरना और कोडलु तीर्था झरना।

बेहतरीन है सनसेट पॉइंट

यहाँ सनसेट व्यू पॉइंट भी टूरिज्म के लिहाज से काफी खास है, इसकी गिनती दुनिया के चुनिंदा सूर्यास्त पॉइंट के रूप में होती है। पश्चिमी घाटों की उच्चतम चोटियों में से एक चोटी पर बसा ये स्थान अरब सागर में सूर्यास्त के अद्भत दृश्यों को देखने का मौका देता है।

ट्रेकिंग के लिए भी है खास

अगुम्बे अपनी सुन्दरता के साथ-साथ ट्रैकिंग के लिए भी बहुत प्रसिद्ध है। यहाँ पर आपको सबसे विषैला सांप किंग कोबरा भी देखने को मिल जायेगा। यहां पर कई प्रकार कि जड़ीबूटियाँ और वनस्पति भी पाई जाती हैं। यही कारण है कि भारत सरकार ने “अगुम्बे रैन फ़ॉरेस्ट रिसर्च स्टेशन” की स्थापना की है।

कैसें पहुंचे अगुम्बे

उडपी रेलवे स्टेशन अगुम्बे के लिए सबसे नज़दीकी रेलवे स्टेशन माना जाता है। यात्रियों के लिए यहाँ पर यात्री घर की सेवा उपलब्ध है।

अगुम्बे शिमोगा, उडपी, और मंगलौर से करीब 40 मिनट की दूरी पर स्थित है। आप यहाँ से कोई भी बस पकड़कर बस द्वारा भी यहाँ पहुँच सकते हैं। बंगलुरु से अगुम्बे जाने के लिए यात्रियों के लिए कई सरकारी बसों की सेवा उपलब्ध है।