मथुरा-वृंदावन के कृष्ण जन्मोत्सव में होना चाहते हैं शामिल, इस तरह से करें अपना ट्रिप प्लान

श्री कृष्ण जन्माष्टमी यानि की भगवान श्री कृष्ण का जन्मदिन, पूरे भारत में यह त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। देश के अलग अलग हिस्सों में इसे अलग अलग तरह से मनाया जाता है लेकिन जहां कान्हा का जन्म हुआ, वहां का नजारा ही कुछ अलग होता है। कृष्ण का जन्म मथुरा में हुआ था और बचपन गोकुल वृंदावन में बीता। बरसाना में राधा रानी रहती थीं, जो कि कान्हा कि प्रेमिका थीं। ऐसे में उत्तर प्रदेश की इन जगहों पर कृष्ण जन्माष्टमी का बहुत ही भव्य उत्सव होता है।

ऐसे में अगर आप चाहे तो इस ख़ास मौके पर मथुरा, वृंदावन और बरसाना की एक यादगार ट्रिप प्लान कर सकते है, यहां पर कम से कम दो दिनों तक रुककर जन्माष्टमी का मजा लेना एक अलग ही अनुभव हो सकता है। तो आइए जानते है आप किस तरह से अपने जन्माष्टमी की ट्रिप को यादगार बना सकते है।

इस दिन मनाया जायेगा त्योहार

उत्तर प्रदेश की इन तीनों जगहों पर जन्माष्टमी को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है, कृष्ण जी की खास आरती से लेकर जगह जगह उनके जन्म को लेकर खास पूजा और उत्सव मनाया जाता है। इस वर्ष कृष्ण जन्माष्टमी शुक्रवार यानि 19 अगस्त को है उसके बाद वीकेंड है। ऐसे में आप बारे ही आराम से दो या तीन दिनों का एक ट्रिप प्लान कर सकते है और बात जब जन्माष्टमी की हो तो मथुरा वृंदावन से बेहतर जगह क्या ही होगा।

दो दिन में कैसे घूमें मथुरा-वृंदावन और बरसाना

उत्तर प्रदेश में स्थित मथुरा का सफर करने के लिए दिल्ली से महज ढाई से तीन घंटे का रास्ता है। आप यमुना एक्सप्रेस वे से बस या खुद की गाड़ी से यात्रा कर सकते हैं। वैसे तो यहां कई प्रसिद्ध मंदिर हैं लेकिन दो दिन की ट्रिप पर आ रहे हैं तो मथुरा वृंदावन के कुछ सबसे प्रसिद्ध मंदिरों और चुनिंदा जगहों को घूमने के लिए जा सकते हैं।

मथुरा-वृंदावन के ट्रिप का खर्च

मथुरा- वृंदावन में घूमने और रहने का खर्च कम है। आप दो दिन के लिए यहां आ रहे हैं तो बस के जरिए मथुरा पहुंचे। इसके लिए सबसे सस्ता बस टिकट 200 रुपये का है। ट्रेन का किराया लगभग 2000 रुपये आएगा। मथुरा में रहने और खाने का खर्च अधिक नहीं है लेकिन अगर जन्माष्टमी के समय यहां पहुंच रहे हैं तो पहले से होटल में बुकिंग करा लें।

जन्माष्टमी में खासतौर से पूरे भारत के अलग अलग हिस्सों से लोग पहुंचते है ऐसे में आपको यहाँ 500 से लेकर 3000 रुपये तक में होटल में कमरा मिल सकता है। साथ ही खाने में 1000 रुपये तक खाने का खर्च आ सकता है। आप लोकल टैक्सी से मथुरा वृंदावन घूम सकते है।

कैसे घूमे मथुरा वृंदावन

मथुरा वृंदावन की सकरी गलियों में कई सारे मंदिर हैं। ये सारे मंदिर कान्हा की मौजूदगी का अहसास कराते हैं। वहां पहुंचकर गाड़ी होटल में खड़ी कर सकते हैं और मंदिरों को स्थानीय टैक्सी या ई रिक्शा की मदद से घूम सकते हैं। महज 300 से 500 रुपये में ई रिक्शा चालक आपको 5 से 6 प्रसिद्ध मंदिरों के दर्शन कराते हैं। एक दिन में आप कम समय में कई दार्शनिक स्थल घूम सकते हैं। इसके अलावा यमुना घाट पर स्नान के लिए जा रहे हैं तो वहां प्रति व्यक्ति नौका विहार के लिए 20 से 30 रुपये किराया हो सकता है।

मथुरा वृंदावन के महत्वपूर्ण मंदिर

  • कृष्णजन्म भूमि
  • बांके बिहारी मंदिर
  • रंगनाथ मंदिर
  • प्रेम मंदिर
  • द्वारिकाधीश मंदिर
  • इस्काॅन मंदिर
  • निधिवन
  • गोवर्धन पर्वत
  • कुसुम सरोवर
  • यमुना घाट

ये भी पढ़ें: हिमालय की गोद में रहस्यमयी मंदिर….पत्थरों को थपथपाने से सुनाई देती है डमरू की आवाज!