यह है शिलांग का सबसे ज्यादा देखे जाना वाला पर्यटन स्थल, अद्भुत है यहां की प्राकृतिक खूबसूरती

एलीफेंट फाल्स शिलांग के बगल में स्थित उत्तर-पूर्व में सबसे लोकप्रिय वाटर फाल्स में से एक हैं। यह पर्यटकों के लिए स्वर्ग के समान है। ब्रिटिशों ने इस झरने का नाम इसलिए Elephant falls रखा, क्यूंकि यह हाथी के आकार की चट्टान है। हालांकि, बाद में   पत्थर विघटित हो गया था।

तीन झरनों में सबसे पहला घने पेड़ों के बीच टकराता है, दूसरा झरना पानी के पतले किस्में को कम करता है, तीसरा और सबसे अधिक दिखाई देने वाला झरना सबसे लंबा झरना है जो स्पष्ट पानी की तरह बहता है। यहाँ तक पहुंचने के लिए आपको 150 स्टेप्स चढ़ना पड़ता है और बीच-बीच में बैठने के लिए बेंचेज भी लगी हुई है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Parsida Nongmaithem (@parsida.3.6)

तीनों में से, तीसरा झरना पर्यटकों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। Elephant falls मेघालय की यात्रा में सर्वप्रथम है। शिलांग की राजधानी शहर से 12 किमी दूर स्थित, यह राज्य में सबसे अधिक देखे जाने वाले वाटर फॉल्स में से एक है।

अब यदि आपने यहाँ आने का मन बना ही लिया है तो हम आपको बता दे कि यहाँ आने का सही समय मानसून के बाद अगस्त से दिसंबर का है, जब चारों तरफ हरियाली और पानी का स्तर भी ज्यादा होता है, जो इस पर्यटन स्थल की खूबसूरती को और बढ़ा देता है।यहाँ की एंट्री फीस 100 रूपए प्रति व्यक्ति होती है, अगर आप कैब ड्राइवर बुक करते है तो उसका खर्च लगभग  2000 रूपए होता है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by shutter_snatcher (@shutter_snatcher)

यहां का नजदीकी हवाई अड्डा उमरोई एयरपोर्ट है, शिलांग तक आप टैक्सी या बस से आ सकते है और गुवाहाटी से शिलांग तक एक हेलीकॉप्टर सेवा भी है। यहाँ का नजदीकी रेल हेड गुवाहाटी में है, जहां से कोई भी कैब किराए पर ले सकते हैं या फिर शिलांग तक बस से आया जा सकता है।

Photo

एलीफैंट वाटरलफल्स के नजदीक 10 किलोमीटर में घूमने के लिए और स्थल है, जैसे – वार्डस लेक, एयर फाॅर्स म्यूजियम, मावफ्लांग सेक्रेड फारेस्ट, शिल्लोंग व्यू पॉइंट आदि। यदि आपको नाश्ता करना हो या भोजन करना हो तो इसी के पास सबसे नजदीकी रेस्टोरेंट ML 05 Cafe है, जो 1.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।