अगर आप धार्मिक स्थल घूमने का शौक रखते हैं तो जाइए आगरा के कुछ ऐतिहासिक धार्मिक स्थल

अपने अंदर एक अलग ही खूबसूरती समेटे हुए भारत के हर हिस्से में आपको भारत के हर राज्य में अद्भुत चीजें देखने को मिलती हैं। यदि आप धार्मिक स्थल घूमना चाहते हैं तो आपको हर जगह कई ऐतिहासिक धार्मिक स्थल देखने को मिलते हैं। तो आज हम आपको उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में खूबसूरत धार्मिक स्थलों के बारे में बता रहे हैं।

गुरु का ताल

सिख समुदाय के लिए शहर के सबसे प्रतिष्ठित स्थानों में से एक गुरु का ताल, जो एक गुरुद्वारा है। यह गुरुद्वारा अपनी खूबसूरत वास्तुकला के लिए भी जाना जाता है। इस गुरुद्वारे का निर्माण सिख के नौवें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर जी को श्रद्धांजलि देने के लिए किया गया था।

जामा मस्जिद

आगरा की जामा मस्जिद जिसे शुक्रवार मस्जिद या जामी मस्जिद के नाम से जाना जाता हैं, जो कि देश की सबसे बड़ी मस्जिदों में शामिल है। इस मस्जिद की नक्काशीदार लाल बलुआ पत्थर की मस्जिद को 1648 में मुगल सम्राट शाहजहां ने बनवाया था। और मस्जिद मुगल की शहजादी, शाहजहां की बेटी जहांआरा बेगम और मुमताज महल को समर्पित किया गया था।

मोती मस्जिद

मोती मस्जिद के नाम से मशहूर सफेद संगमरमर से बनी मोती मस्जिद देखने में किसी मोतियों से बनी इमारत जैसी लगती है, इसलिए इस मस्जिद को मोती मस्जिद के नाम से जाना जाता है। इसे सम्राट शाहजहां द्वारा दरबार के शाही सदस्यों के लिए 1648 और 1654 के बीच बनवाया गया था। इस मंदिर की नक्काशी यहां जाने वाले पर्यटकों को खूब आकर्षित करती हैं।