दिल्ली के करीब मानसून में ढूंढ रहे है कोई सुकून भरा खूबसूरत वीकेंड गेटवे तो यहाँ चले आइये !

बारिश का ये सुहाना मौसम और चारों ओर फैली ये हरियाली और उसे ढकती हुई काली घटाएं , इन सब खूबसूरत नज़ारों को देखने का मन आखिर किसका नहीं करेगा? लेकिन चूँकि सभी ट्रेवल लवर्स को बारिश का मौसम इतना अच्छा लगता है तो घूमने के लिए जो भी फेमस जगहें हैं वो पहले से ही काफी पर्यटकों की भीड़ से भरी होती हैं।

तो अगर आप भी हैं उनमे से जो ढूंढ रहे हैं कोई खूबसूरत जगह जहाँ आपको पर्यटकों की भीड़ नहीं बल्कि सुकून भरा समय मिले तो ये आर्टिकल आप ही के लिए है। जी हाँ आज हम आपको बताने वाले हैं राजस्थान की एक ऐसी ही छिपी हुई जगह के बारे में जहाँ आप भीड़ से दूर सुकून से अपना वीकेंड बिता सकते हैं। हम बात कर रहे हैं किशनगढ़ राजस्थान की, तो चलिए जान लेते हैं किशनगढ़ के प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में…..

महाकाली मंदिर (आसन की टेकरी) 

सबसे पहले अगर आप सुबह के वक़्त सबसे अच्छी जगह जाना चाहते हैं तो यह जगह आपके लिए शानदार रहेगी। इस जगह महाकाली का मंदिर हैं और इस जगह को आसन की टेकरी नाम से भी जाना जाता है। यह जगह गुन्दोलाव झील के किनारे पर स्थित हैं।

आप इस मंदिर में दर्शन करके वहां तेज़ चलती ताज़ी हवा के साथ सामने दिख रहे झील और उसके पीछे की तरफ किशनगढ़ किले के खूबसूरत नज़ारे के साथ कुछ बेहद सुकून भरे पल अपनी यादों में समेट सकते हैं। यहाँ से नीचे की ओर आप इस झील के घाट पर भी जा सकते हैं और इस सुन्दर झील के साथ कुछ फोटोज क्लिक कर सकते हैं।

सुख सागर पार्क और प्राचीन नवग्रह मंदिर

यहाँ जाने के लिए आपको किशनगढ़ सिटी से भैरव घाट रोड पर जाना होगा। इस रोड पर करीब 4-5 किलोमीटर दूर स्थित हैं सुख सागर पार्क और इसी पार्क में मौजूद हैं दुनिया का सबसे पुराना नवग्रह मंदिर। यहाँ आप नौ ग्रहों के दर्शन करके सुख सागर पार्क में कुछ समय बिता सकते हैं और अगर आपके साथ बच्चे भी हैं तो यहाँ आपको उनके लिए कुछ झूले आदि भी मिल जायेंगे।

 

किशनगढ़ डंपिंग यार्ड

ये वही जगह हैं जिसे “राजस्थान का स्विट्ज़रलैंड” नाम से भी जाना जाता है। शायद आपको विश्वास न हो लेकिन बॉलीवुड मूवीज जैसे बागी-3 का एक बर्फीली वादियों वाला सॉन्ग, दबंग-3 में सोनाक्षी सिन्हा और सलमान खान का “यूँ करके” गाना और तो और कपिल शर्मा की मूवी “किस किसको प्यार करूँ”  का एक गाना भी इसी जगह शूट हुआ है

इस जगह जाकर आप मालदीव्स के ब्लू वाटर बीच या स्विट्ज़रलैंड की बर्फीली वादियों जैसे नज़ारों के साथ ढेरों फोटोज ले सकते हैं। ऊपर से यहाँ जाने का कोई टिकट चार्ज भी नहीं हैं बस आपको अपनी आईडी दिखाकर किशनगढ़ मार्बल एसोसिएशन ऑफिस से एंट्री पास लेना पड़ेगा। ये जगह किशनगढ़ बस स्टैंड से करीब 4-5 किलोमीटर दूर है। 

भैरव घाट बालाजी मंदिर

ये मंदिर भी किशनगढ़ झील किनारे ही स्थित हैं और यहाँ दर्शन करके आप यहाँ लगे एक विशाल बरगद के पेड़ के नीचे झील के पानी को छूती हुई ताज़ी और ठंडी हवा के साथ कुछ देर शांति में व्यतीत कर सकते हैं। साथ ही यहाँ पास ही में घाट किनारे बेहद सुन्दर तरीके से लिखा “जय श्री राम” सेल्फी पॉइंट भी हैं जहाँ आप सेल्फी वगैरह ले सकते हैं। 

किशनगढ़ फोर्ट :

झील किनारे पर बना हुआ किशनगढ़ किला झील के दूसरे किनारे से बेहद खूबसूरत लगता हैं और साथ में यहाँ मंडराते देशी- विदेशी पक्षियों को देखकर सच में आपका मन खुश हो जायेगा। लेकिन आपको बता दें की ये किला अब एक निजी संपत्ति हैं और ये अब एक रिसॉर्ट बन चुका हैं तो यह फोर्ट अब टूरिस्ट्स के लिए खुला नहीं है।

लेक व्यू टी पॉइंट: 

अब हम आपको बताते हैं एक ऐसे पॉइंट के बारे में जो ऐसे तो कोई टूरिस्ट पॉइंट नहीं हैं लेकिन अगर आप शाम के वक़्त आसन की टेकरी के आस पास हैं तो पास में ही रास्ते में आपको झील किनारे प्रशासन द्वारा लगायी हुई कुछ बैठने की कुर्सियां दिखेंगी और यहाँ कुछ दुकाने भी दिखेंगी जहाँ आप चाय, स्नैक्स वगैरह ले सकते हैं और साथ में शाम को झील किनारे बैठकर पक्षियों के साथ कुछ अनमोल यादें इक्कठी कर सकते हैं। 

तो अगर आप इन जगहों के बारे में और अधिक जानकारी चाहते हैं और ऐसी ही और भी छिपी हुई खूबसूरत जगहं के बारे में भी जानना चाहते हैं तो आप नीचे दिए हुए लिंक के द्वारा हमारे Youtube चैनल WE and IHANA पर जा सकते हैं।

https://youtube.com/c/WEandIHANA

किशनगढ़ कैसे पहुंचे ?

किशनगढ़ राजस्थान के प्रमुख शहरों से ही नहीं बल्कि पूरे भारत से हवाई, ट्रेन और सड़क मार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है, तो आप आसानी से अपनी सुविधा के अनुसार कोई भी तरीका यहाँ पहुँचने के लिए चुन सकते हैं।