‘जन्नत’ से कम नहीं है केरल के ये 5 टूरिस्ट डेस्टिनेशन, तस्वीरें देखकर सब कुछ भूल जाएंगे

देश में मानसून की दस्तक हो चुकी है, ऐसे में टूरिस्ट भी अपना झोला पैक कर अलग अलग जगहों के लिए कूच करने की सोच रहे है। दक्षिण भारतीय राज्य केरल में बारिश का मौसम आने के साथ ही नेचुरल ब्यूटी अपने चरम पर पहुंच गई है।

ऐसे में आज के इस पोस्ट में हम आपके साथ केरल के उन चुनिंदा पांच जगहों के बारे में बात करने वाले है जहाँ आप बारिश को एंजॉय कर सकते है और वहां की नेचुरल ब्यूटी किसी जन्नत से कम नहीं है।

अलाप्पुझा

हमारे लिस्ट में पहले स्थान पर केरल का अलाप्पुझा। यह स्थान मानसून के मौसम में सबसे ज्यादा दर्शनीय स्थलों में से एक है। प्राकृतिक सुंदरता से सराबोर हरे किनारे आपको मंत्रमुग्ध कर देंगे, यहाँ आप अलाप्पुझा बीच, वेम्बनाड झील, मारारी बीच, पथिरमनाली जैसी जगहों पर जाकर अपना शानदार समय बिता सकते है।

इतना ही नहीं यहां की स्नेक बोट रेस काफी फेमस है, जो अगस्त के पहले सप्ताह में आयोजित की जाती है। यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन अलाप्पुझा है. निकटतम हवाई अड्डा कोच्चि इंटरनेशनल एयरपोर्ट है, जो अलाप्पुझा टाउन से लगभग 85 किमी दूर है।

अष्टमुडी झील

केरल के कोल्लम जिले में स्थित अष्टमुडी झील मानसून के लिए सबसे बेहतरीन जगह में शुमार है. इस झील के 8 चैनल्स हैं, इसलिए इसे अष्टमुडी कहा जाता है. इस झील की हाउसबोट सवारी काफी मशहूर है. इसके जरिए आप प्रकृति को बेहद करीब से देख सकते हैं. झील में होमस्टे करके अपनी ट्रिप को यादगार बना सकते हैं।

झील के आसपास मंदिर, एडवेंचर पार्क समेत घूमने की कई जगह हैं. यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन कोल्लम जंक्शन है, जो 2 किलोमीटर दूर है. नजदीकी एयरपोर्ट त्रिवेंद्रम इंटरनेशनल एयरपोर्ट है, जो इस झील से 70 किलोमीटर दूर है।

पेरियार नेशनल पार्क

केरल की सबसे खूबसूरत जगहों में शुमार थेक्कडी का पेरियार नेशनल पार्क भारत के बेहतरीन वन्यजीव अभ्यारण्यों में से एक है. यहां आप बैंबू राफ्टिंग, जंगल नाइट पेट्रोल, जीप सफारी और नौका विहार जैसी एक्टिविटी कर सकते हैं. यह जगह हरियाली से पूरी तरह घिरी हुई है. यह केरल में मानसून में घूमने के लिए टॉप स्थानों में से एक है।

इसके आसपास सुरुली जलप्रपात, मंगला देवी कन्नगी मंदिर, मुल्लापेरियार बांध जैसी घूमने की कई जगह हैं. इसका निकटतम रेलवे स्टेशन कोट्टायम रेलवे स्टेशन है, जो लगभग 68 किमी दूर है. निकटतम एयरपोर्ट मदुरै करीब 140 किमी दूर है।

मुन्नार

चाय के बागानों से ढके खूबसूरत मुन्नार के बारे में कौन नहीं जनता। केरल की इस जगह को ‘चाय का स्वर्ग’ भी कहा जाता है, आमतौर पर टूरिस्ट यहाँ चाय के बागानों की सैर के लिए जाते है। हालाँकि मुन्नार में चाय के अलावा भी बहुत कुछ है।

यहाँ आप प्रसिद्ध अट्टुकड़ जलप्रपात का आनंद ले सकते हैं. मुन्नार में दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी अनामुडी भी है, जो ट्रेकिंग के लिए एक बेहतरीन जगह है। यहां घूमने के लिए एराविकुलम राष्ट्रीय उद्यान, मट्टुपेट्टी बांध, अनामुडी, चाय संग्रहालय जैसी कई बेहतरीन जगह हैं। 

मुन्नार पहुंचने के लिए आप निकटतम रेलवे स्टेशन अलुवा जा सकते है जो की लगभग 108 किमी दूर है दूसरी तरफ निकटतम हवाई अड्डा कोच्चि इंटरनेशनल एयरपोर्ट है जो की मुन्नार से 125 किलोमीटर दूर है। 

वायनाड

पोलिटिकल गपसप के दौरान आपने इस जगह का नाम कई बार सुना होगा लेकिन घूमने के लिहाज से यह जगह केरल की एक परफेक्ट डेस्टिनेशन है। यहां बारिश के मौसम का आनंद लेने के लिए जंगल के बीच कई ट्री हाउस हैं जहाँ आप रुक सकते है।

यहां की हरी-भरी घाटी और चाय व कॉफी के बागान आपका दिल जीत लेंगे. यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन कालीकट रेलवे स्टेशन है, जो 62 किमी दूर है. निकटतम हवाई अड्डा कालीकट अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है।