जन्नत माने जाने वाले उत्तराखण्ड में हैं यह खूबसूरत झरने, जो घुमक्कड़ों को एक बार जरूर देखने चाहिए

हमारे भारत देश में ऐसी बहुत सी खूबसूरत जगहें होंगी जहां आपको बहुत खूबसूरत झरने आसानी से देखने को मिल जाएंगे। लेकिन हम आज बात करने जा रहे हैं उत्तराखण्ड के 5 बेहतरीन झरनों की जो अपनी खूबसूरती के मामलों में सबसे अलग हैं।

खूबसूरत पहाडियों की हरियाली चीड़ और देवदार के ऊँचे ऊँचे वृक्ष और उनके मध्य बहने वाले झरने आपके मन को अपार शांति देने का कार्य करने में सक्षम है। जहां आप वीकएंड में परिवार और दोस्तों के साथ जा सकते हैं।

उत्तराखंड के 5 खूबसूरत झरने

1) मुंसियारी के पास बिर्थी झरना

खूबसूरत पहाड़ों के मध्य मुनस्यारी में बिर्थी के नाम से प्रसिद्ध यह सुन्दर सा झरना देखने मात्र से ही मन में एक नई उमंग पैदा करने का काम कर देता है। इस झरने से गिरती बारीक पानी की बौछारें ताजगी और स्फूर्ति देतीं हैं।

इस झरने तक कालामुनी दर्रे से पहुंचा जा सकता है। बिर्थी जलप्रपात मुनस्यारी से लगभग 35 किमी दूर है। इस सुन्दर झरने के लिए एक छोटी ट्रेक द्वारा भी आसानी से पहुँचा जा सकता है।

2) बद्रीनाथ के पास वसुंधरा फॉल

देवभूमि उत्तराखंड धर्मिक तीर्थ स्थल के अलावा कई बेहद खूबसूरत झरनों के लिए भी जाना जाता है। यहां मौजूद झरने पहाड़ी इलाकों की खूबसूरती को और बढ़ा देता है

यह खूबसूरत झरना बद्रीनाथ से करीब 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित वसुधारा झरना है। जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। यह पवित्र झरना अपने अंदर कई रहस्य समेटे हुए है। इस झरने की सुंदरता देखते ही बनती है।

यहाँ के लोगों के अनुसार इस झरने के नीचे जाने वाले हर व्यक्ति पर इस झरने का पानी नहीं गिरता है। कहा जाता है की इस झरने का पानी पापी लोगों पर नहीं गिरता है।

इसी कारण से दूर दूर से श्रद्धालु यहां आते हैं और इस अद्भुत और चमत्कारी झरने के नीचे उत्साहित होकर खड़े होतें हैं और इस चमत्कार को अपनी आंखों से देखने का प्रयास करते हैं।

3) चोपता के पास अत्रि मुनि फॉल

चोपता एक ऐसी अनछुई खूबसूरत जगह है जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। जहाँ की चारों तरफ फैली हरियाली आपका मन जितने के लिए काफी हैं। अत्रि मुनि झरना उत्तराखंड राज्य के रुद्रप्रयाग जिले में बसे छोटे से हिल स्टेशन में ही स्थित है।

चोपता उत्तराखंड के आकर्षक हिल स्टेशनों में से एक है। घना जंगल और उसके बीचों-बीच प्राकृतिक तौर पर बने अत्रि मुनि फाल झरने का दृश्य सारी थकान कम कर देता है। आपको एक बार जरूर आना चाहिए।

4) चकराता के पास टाइगर फॉल्स

चकराता में टाइगर फाल खूबसूरत हरी भरी घनी पहाडियों के बीचों-बीच स्थित है। देहरादून से यह झरना 25 किलोमीटर की दूरी पर है।चकराता से टाइगर फाल के मध्य इस छोटे से ट्रैक पर रोडोडेंड्रोन और ओक के खूबसूरत वृक्ष देखने को मिल जाएंगे जो कि इस झरने की खूबसूरती को और बढ़ा देता है।

टाइगर फाल झरना भारत का सबसे ऊंचा जलप्रपात माना जाता है। इस झरने की खूबसूरती देखते ही बनती है। चकराता से 5 किलोमीटर टाइगर फाल झरने के इस ट्रैक की खूबसूरती देखने के लिए आपको एक बार जरूर आना चाहिए।

5) धारचूला के पास रांथी झरना

पिथौरागढ से धारचूला महज 92 किलोमीटर की दूरी पर है। लेकिन इन्हीं 92 किलोमीटर मध्य कई सारे खूबसूरत छोटे छोटे वाटर फाल और काली नामक नदी देखने को मिल जाएगी। यहाँ की खूबसूरती किसी जन्नत से कम नहीं। और मुख्य बात की जाए राथीं झरने की उसकी खूबसूरती देखने लायक ही बनती है।

इस झरने को खास इस झरने के नीचे से निकलता रोड बनाता है जहां से वाहन गुजरते हुए काफी अच्छे लगते हैं। और इस झरने का लुत्फ लेते हैं।

एक बार आपको इन 5 प्राकृतिक झरनों को जरूर देखना चाहिए और मुझे पूरा विश्वास है कि आप इन 5 खूबसूरत झरनों को देख मंत्रमुग्ध जरूर होंगे।

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो कमेन्ट बॉक्स में जरूर बताएँ।