इंदौर में घूमने की जगह। Place to visit in Indore

इंदौर में घूमने की जगह

आधुनिकीकरण के इस युग में इंदौर शहर, देश के विकास में सबसे आगे रहा है। दस लाख से ज्यादा की आबादी के साथ ही, इंदौर मध्यप्रदेश की एक वाणिज्यिक राजधानी है। जहां इंदौर को मध्य प्रदेश का दिल कहा जाता है।

इंदौर को वर्षों से राज्य में औद्योगिक प्रथाओं और व्यापार के केंद्र के रूप में खुद को स्थापित किया है, लेकिन इंदौर शहर का आकर्षण इसकी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत है जो कि सदियों से ऐसे ही समृद्ध है। सामान्यतः वास्तुशिल्प वैभव और यहाँ की संस्कृति के साथ समानता के कारण इंदौर का दूसरा नाम ‘मिनी बॉम्बे’ है ।

इंदौर मध्य प्रदेश के सभी शहरों में सबसे बड़ा शहर है और साथ ही मध्य भारत का एक प्रमुख औद्योगिक केंद्र भी है। शहर सरस्वती और खान दो नदियों के संगम का बिंदु है। इंदौर के ज़्यादातर पर्यटन स्थल उन्नीसवीं शताब्दी के ऐतिहासिक अतीत की कहानी को बयां करते हैं। यही वजह है कि यहां पर्यटन स्थल पर्यटकों को भी अपनी ओर आकर्षित करते हैं।

इंदौर में घूमने की जगह। Indore me Ghumne ki Jagah


लाल बाग पैलेस

लाल बाग पैलेस एक भव्य पैलेस है जो होलकर वंश के शासकों द्वारा बनाया गया । इस महल का निर्माण सन 1886 में शुरू हुआ था और लगभग 35 साल बाद सन 1921 में पूरा हुआ था | इस महल का निर्माण उस समय के होलकर वंश के उत्तराधिकारी राजा तुकोजी राव होलकर के द्वारा करवाया गया था | ये महल एक नदी के किनारे लगभग 28 एकड़ के विशाल भूखंड में फैला हुआ है । उस समय यह महल होलकर वंश के राजाओं की भव्यता का परिचायक था परन्तु आज के समय यह महल पर्यटन का एक आकर्षक केंद्र बन चुका है ।

1978 तक यह महल होलकर वंश के निवास के लिए चर्चित था परन्तु आज के समय  यह महल एक संग्रहालय के रूप में जाना जाता है । इस संग्रहालय में होलकर वंश और मराठा साम्राज्य की अत्यंत सुन्दर कलाकृतियों और दुर्लभ सिक्को को रखा गया है । यदि आप इतिहास प्रेमी है तो आपको लाल बाग़ पैलेस घुमने के लिए जाना ही चाहिए ।

 

लाल बाग पैलेस , इंदौर
लाल बाग पैलेस

इंदौर का राजवाड़ा

लालबाग पैलेस की तरह ही इंदौर का राजवाड़ा भी एक ख़ूबसूरत और शानदार महल है । राजवाड़ा का निर्माण भी होलकर वंश के राजाओं द्वारा ही करवाया गया था । यह एक ऐतिहासिक महल है । इस महल का र्निमाण लगभग 200 वर्ष से भी पहले होलकर वंश के उत्तराधिकारी राजा ने करवाया था।राजवाड़ा इंदौर शहर के मुख्य चौक के सामने की ओर स्थित है । रानी अहिल्या बाई की मूर्ति , फव्वारे और सुन्दर बागीचे इस राजवाड़े में आकर्षण का मुख्य केंद्र है ।राजवाड़ा के बागीचे में एक कृत्रिम झरना भी बनाया गया है । इंदौर शहर के मुख्य और सुन्दर पर्यटक स्थलों में राजवाड़ा  एक है । राजवाड़ा एक छत्रियों के पास सात मंजिला ईमारत है यह शाही वास्तुकला का एक अनुपम उदहारण है ।

इंदौर का राजवाड़ा
इंदौर का राजवाड़ा

कांच मंदिर

इंदौर शहर का कांच मंदिर पूरी तरह से कांच से बना हुआ है । यह जैन धर्म का मंदिर है ।कांच मंदिर जैन धर्म के विभिन्न पहलुओं को उत्कृष्ट कलाकृतियों को प्रदर्शित करता है। कांच मंदिर की सभी कलाकृतियाँ कांच के पैनलों पर बनी हुई है । यह जैन मंदिर कांच पर जटिल विवरण , कलाकारों की प्रतिभा और उनके समर्पण का एक अनुपम उदहारण है ।

कांच मंदिर
कांच मंदिर

प्रसिद्ध बड़ा गणपति का मंदिर

इस मंदिर का बड़ा गणपति नाम भगवान गणेश की बड़े आकार की मूर्ति के कारण पड़ा है। गणपति जी मुकुट से लेकर पैर तक लगभग 25 फीट ऊंचे हैं । यह मूर्ति  दुनिया में भगवान गणेश की सबसे बड़ी मूर्तियों में से एक है। इस मूर्ति का निर्माण देश  के प्रमुख तीर्थ स्थानों से लाये गए  ईंटों , गुड़ , पवित्र मिट्टी,चूना पत्थर और पानी के मिश्रण से बनी है।

इस मूर्ति को भी सन 1875 होलकर वंश के राजाओं के द्वारा बनवाया गया था । इस मूर्ति के संस्थापक पंडित नारायणजी दाधीच जी है ।

रानी अहिल्या बाई होलकर ने इस मंदिर को बनाने के लिए लगभग 100 साल पहले  इस योजना को चलाया था ।

प्रसिद्ध बड़ा गणपति का मंदिर

 खजराना मंदिर

यह मंदिर रानी अहिल्या बाई होलकर ने भगवान  गणेश के मूर्ति को ओरंगजेब से बचने के लिए बनवाया था । पहले यह मंदिर एक झोपडी के रूप में था परन्तु निर्माण कार्य के पश्चात इस मंदिर ने एक भव्य रूप धारण कर लिया है । यह खरजाना मंदिर भगवान् गणपति के बड़े मंदिरों में से एक है । हर साल गणेश चतुर्थी के पर्व को इस मंदिर में बड़े भव्य उत्सव के रूप में मनाया जाता है ।

इंदौर का खजराना मंदिर

 सर्राफा बाजार

यदि आप खाने के बहुत शौकीन है तो आप के लिए पूरे इंदौर शहर सर्राफा बाज़ार से अच्छी जगह शायद ही कोई होगी । सर्राफा बाज़ार में खाने पीने की चीज़ों के बहुत से स्टाल लगे हुए होते है । सर्राफा बाज़ार में सुबह 8:00 बजे से देर रात 02:00 बजे तक आपको तरह -तरह खाने की चीज़े मिल जायेंगी जो स्वाद से भरपूर होती है । सर्राफा बाज़ार के स्टाल दिन भर में लगभग 3000 से ज्यादा लोगों का मनोरंजन करते हुए 50 से अधिक भोजन परोसते है । यहाँ पर भोजन बहुत ही कम दामों में उपलब्ध होता है ।

तो जब भी आप इंदौर जाएँ तो सर्राफा बाज़ार घूमना कभी भी न भूलें ।

सर्राफा बाजार
सर्राफा बाजार

पातालपानी झरना

पातालपानी झरना इंदौर शहर का एक मशहूर जलप्रपात है ।युवाओं के लिए यह बहुत ही लोकप्रिय और आकर्षक फोटो स्पॉट है । पूरे साल में आप कभी भी यह झरना देखने आ सकते है , साल भर यह बहुत ही मनोरम दिखता है । मानसून के समय यह झरना थोडा जोखिम भरा हो जाता है । तो बारिश के समय आप थोड़ी सावधानी बरतें ।  हल्की बारिश के मौसम के समय  में भी आप इस जगह का भरपूर आनंद ले सकते हैं। यह काफी रोचक और आकर्षक है । यहाँ का नज़ारा अंतर्मन को शांति देने वाला होता है ।

पातालपानी झरना
पातालपानी झरना

कान्हा संग्रहालय

कान्हा संग्रहालय भले ही छोटा है परन्तु इंदौर शहर के ऐतिहासिक पहलु में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है । कान्हा संग्रहालय इंदौर में इंदौर शहर के भूतकाल और इतिहास की कलाकृतियां भी राखी गयी है । यह  संग्रहालय विशेष रूप से सरीसृप अध्ययन,  वन्य जीवन,  आदि के लिए पूर्ण रूप से समर्पित है। यदि आप इंदौर के इतिहास के बारे में जानने के लिए उत्सुक है तो इस संग्रहालय में आपको आना चाहिए ।

इंदौर का कान्हा संग्रहालय
इंदौर का कान्हा संग्रहालय

 मेघदूत गार्डन

मन को असीम शांति देने वाला यह मेघदूत गार्डन इंदौर घुमने आने वाले लोगो को विशेष रूप से आकर्षित करता है । इस गार्डन को इंदौर शहर के सबसे पुराने उद्यानों की गिनती में एक सर्वोत्तम स्थान दिया गया है । लेकिन आज  के समय में भी  इसकी महिमा कम नहीं हुई है ।  विभिन्न प्रकार के वृक्ष और इनके भिन्न भिन्न प्रकार के रंगों  के फूल इस गार्डन के वयावरण को अति सुन्दर बनाते है  ।  मै दावा कर सकता हु कि जब आप इस गार्डन में घुमने जायेंगे तो अपने जीवन के सभी टेंसन को भूल जायेंगे ।  बड़ों के साथ यह पार्क बच्चों के लिए भी बहुत अच्छा माना  जाता है । बच्चों के मनोरंजन के लिए झूलों के साथ साथ कुछ खाने पीने के स्टाल भी लगे हुए होते है ।

 मेघदूत गार्डन
मेघदूत गार्डन

मोहाडी जलप्रपात

ऊंचाई से गिरता पानी का लुभावना नजारा हमेशा ही पयर्टकों को मोह लेता है और मोहाड़ी जलप्रपात सही जगह हैं जहां आप अपने परिवार के साथ और  दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने के लिए जा सकते हैं। इंदौर से 30 किलोमीटर की दूरी पर यह झरना स्थित है, यह एक मनमोहक पिकनिक स्थल है।

वॉटरफॉल मोहाडी जलप्रपात

कृष्‍णपुरा छतरी

यह स्‍थल वास्‍तव में होलकर राजवंशों के सदस्‍यों की शाही कब्र का स्‍थान है। ये खान नदी के तट पर स्थित है। इस छतरी की वास्‍तुशिल्‍प बहुत ही सुंदर, आकर्षक बना हुआ है। मराठा शैली में इस स्‍मारक की वास्‍तुकला को निर्मित किया गया है। यह सभी छतरियां रात में रोशनी से जगमगा उठती है।

कृष्‍णपुरा छतरी

गोमटगिरि

यह मंदिर जैन समुदाय के लोगों के बीच प्राकृतिक वातावरण में स्थित है। गोमटगिरि पहाडी़ के बीच प्राकृतिक वातावरण में स्थित है। यह मंदिर भगवान गोमटेश्‍वर की विशाल मूर्ति के कारण प्रसिद्ध है।यह मूर्ति, 21 फीट ऊंची है और श्रवणबेलगोला में स्‍थापित बाहुबली की प्रतिमा की प्रतिकृति है। यहां जैन धर्म के 24 तीर्थांकरों को समर्पित 24 संगमरमर के मंदिर स्थित है।

गोमटगिरि
गोमटगिरि

नेहरु पार्क

इंदौर शहर में चिडिया घर के नाम से प्रसिद्द नेहरु पार्क पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र माना  जाता है । नेहरु पार्क का पूरा नाम कमला नेहरु पार्क है । यह इंदौर के बहरी इलाके में स्थित एक प्राणी उद्यान है , यहं आपको देसी , विदेशी , शाकाहारी और मांसाहारी जैसे भिन्न भिन्न प्रकार के जीव देखने को मिल जाते है । इस पार्क में आप हाथी , बग्गी , घोड़े , ऊंट की सवारी का आनंद उठा सकते है , जो कि ज्यादा महंगा भी नहीं है ।

इस पार्क में घुमने का समय सुबह 9:00 बजे – शाम 7:00 बजे से तक का है ।

अब प्रवेश शुल्क की बात की जाये  तो : भारतीय नागरिक के लिए प्रवेश शुल्क मात्र 10 रुपये है ।

विदेशी नागरिक के लिए प्रवेश शुल्क 200 रुपये है ।

पार्क के अन्दर कैमरा ले जाने का शुल्क 30 रुपये निर्धारित किया गया है ।

पार्क में विडियो कैमरा ले जाने का शुल्क 50 रुपये है ।

कमला नेहरु पार्क इंदौर
कमला नेहरु पार्क इंदौर

अन्नपूर्णा मंदिर

यह मंदिर पूरी तरह से माता अन्नपूर्णा को समर्पित है । यह मंदिर तीर्थयात्रियों के अलावा पर्यटकों के लिए भी अत्यंत लोकप्रिय स्थान है । माता अन्नपूर्णा और भोजन देवता को समर्पित इस मंदिर में काल  भैरव और महाबली हनुमान जी के मंदिर भी है । इस पवित्र मंदिर का मुख्य प्रवेश द्वार चार महाकाय हाथियों की आदमकद मूर्तियों से शुशोभित है । इस मंदिर की वाश्तुकला और सांस्कृतिक प्रतिलिपि घुमने वालों को आकर्षित करता है ।

अन्न पूर्ण मंदिर इंदौर
अन्न पूर्णा मंदिर इंदौर

छप्पन दुकान

यदि आप फ़ूड लवर है तो इंदौर की छप्पन दुकान में आपको घुमने आना ही चाहिए ।नाम से जैसा कि आपको पता ही चल गया होगा कि इस स्थान पर छप्पन दुकानों का समूह है । जब इस स्थान कि स्थापना क इगायी तब यहाँ पर छप्पन दुकाने एक साथ खोली गयी थी , तभी से इस जगह का नाम छप्पन दुकान पड़ गया।   शाम को यहां फास्ट फूड से लेकर हर तरह के स्नैक को पसंद करने वालों की भीड़ जमा हो जाती है। अगर आप इंदौर जाएं, तो किसी रेस्टोरेंट के बजाए छप्पन दुकानों पर अलग-अलग डिशेज का स्वाद लें।

छप्पन दुकान इंदौर
छप्पन दुकान इंदौर

यह जानकारी थी इंदौर शहर के कुछ महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों की  । ऊपर बताये गए स्थानों के अलावा और भी बहुत से ऐसे स्थान है जहाँ आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ घुमने जा सकते है ।