बांसवाड़ा में घूमने की जगह। Places to visit in Banswada

यह एक प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर और रेगिस्तानी धरती पर बसा हुआ पर्यटन स्थल बांसवाड़ा है। आप यहां आ के यहां के लोकल कल्चर और स्थानीय मेले का भी आनंद ले सकते हैं। इसे “सौ द्वीपों का शहेर” कहा जाता हैं। क्योंकि बांसवाड़ा में ‘माही’ नदी पर बड़ी संख्या में खूबसूरत द्वीप है।

बांसवाड़ा में घूमने की जगह। Places to visit in Banswada


चाचाकोटा

यह बांसवाड़ा शहर से करीब 14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक बहुत ही सुंदर स्थान है। जो कि शहर के सबसे प्रसिद्ध आकर्षित स्थानों में से एक है। झा पर सबसे सुंदर प्राकृतिक नजारा देखने को मिलता है। यहां पर ऊंची-ऊंची पहाड़िया दूर-दूर तक फैली हुई है और हर जगह पर पानी समुद्र तट की तरह दिखाई देता हैं।

चाचाकोटा
चाचाकोटा

आरथुना

यह एक दर्शनीय पुरातात्विक पर्यटन स्थल है जो कि सदियों पुराना होने के साथ साथ अत्यंत खूबसूरत भी है। इसके साथ ही इस क्षेत्र से कहीं प्राचीन मंदिर और मूर्तियां खुदाई के दौरान पाई गई है। प्राकृतिक सुंदर और खूबसूरत पौराणिक प्राकृतिक कला का यह एक बहुत ही अच्छा उदाहरण है जिसे देखने के लिए देश-विदेश से पर्यटक यहां पर आकर्षित हो कर चले आते हैं।

आरथुना
आरथुना

गढ़ राजमहेल

यह एक ऐसा महल है जहां महल में तकरीबन 50 से अधिक अलग-अलग अपरमेंट मौजूद है। यह महल करीब 500 साल से भी अधिक पुराना है जो की बांसवाड़ा शहर के  गौरव का प्रतीक है। इस महल को पूरा लाइटों से सजाया गया है जिससे रात में देखना एक अद्भुत नजारा देखने को मिलता है।

गढ़ राजमहेल
गढ़ राजमहेल

मानगढ़ धाम

इसे मिनी जलियांवाला बाग नरसंहार के रूप में जाना जाता हैं। मानगढ़ पहाड़ी पर जिस जगह पर यह घटना घटित हुई थी वह स्थान पवित्र बन गया है और अब इसे मानगढ़ धाम के नाम से जाना जाने लगा है जिसे पर्यटक मिनी जलियांवाला बाग के नाम से भी जानते हैं।

मानगढ़ धाम
मानगढ़ धाम

 

त्रिपुरा सुंदरी मंदिर

यह मंदिर शहर से करीब 19 किलोमीटर की दूरी पर स्थित 52 शक्तिपीठो मैं से एक यह दर्शन करने योग्य मंदिर है। इस मंदिर को “माता तीरटिया” के नाम से भी जाना जाता है। और यह मंदिर त्रिपुरा सुंदरी देवी को समर्पित है। यहां माता की भव्य अद्भुत मूर्ति है। जिसके दर्शन के लिए लोग दूर दूर से आते है।

त्रिपुरा सुंदरी मंदिर
त्रिपुरा सुंदरी मंदिर

 

श्री गढ़ राजमहेल

यह एक बहुत ही खूबसूरत महल है। जो कि करीब
500 साल से भी अधिक पुराना है जो कि बांसवाड़ा शहर के गौरव का प्रतीक है। महल के पास स्थित एक क्लॉक टावर में कड़ी को स्थापित किया गया था। इस महल के कुछ हिस्सों में अभी भी राजवंश के पूर्वज का निवास स्थान है। जहां अगर लोग आ के घूमना तो घूम सकते है।

श्री गढ़ राजमहेल
श्री गढ़ राजमहेल