वलसाड में घूमने की जगह। Places to visit in Valsad

वलसाड जिला जिसे बल्सार के नाम से जाना जाता है, यह एक पर्यटक स्थान भी है जो अपने मंदिरों, समुद्र तट और पहाड़ों के लिए मशहूर है। वलसाड में घूमने आने का सबसे अच्छा समय मई-जून में होता है, जब प्री मानसून के समय जब शहर और उसके आसपास की सड़कें अपने सबसे अच्छे स्थान पर होती हैं।

 

वलसाड में घूमने की जगह। Places to visit in Valsad


श्री शिरडी साईबाबा संस्थान, तीथल

श्री शिरडी साईबाबा की स्थापना 1982 में हुई थी।वलसाड जिले के तितल शहर में स्थित श्री शिरडी साईबाबा संस्थान यहां समुद्र तट के किनारे स्थित है।

श्री शिरडी साईबाबा संस्थान, तीथल
                      श्री शिरडी साईबाबा संस्थान, तीथल

श्री स्वामीनारायण मंदिर, तीथल

वलसाड जिले के तीथल शहर में समुद्र तट के किनारे स्थित श्री स्वामीनारायण मंदिर जो कि एक बहुत ही आकर्षक और प्रसिद्ध मंदिरों में से एक हैं। यह मंदिर भगवान नारायण को समर्पित मंदिर है।

श्री स्वामीनारायण मंदिर, तीथल
                     श्री स्वामीनारायण मंदिर, तीथल

 

शांतिधाम आराधना केंद्र, तीथल

यह स्थान दुनिया के भिक्षुओं के बीच आध्यात्मिक और मानसिक शांति प्राप्त करने के लिए एक बहुत ही अच्छा स्थान है। यहां आप अपना समय व्यतीत करने और यहां की शांति का अनुभव करने आ सकते है।

शांतिधाम आराधना केंद्र, तीथल
                  शांतिधाम आराधना केंद्र, तीथल

 

ताड़केश्वर महादेव मंदिर, वलसाड

वलसाड जिले के अबराम शहर के पास स्थित ताड़केश्वर महादेव मंदिर यहां का एक दार्शनिक स्थल है जो कि यह भगवान शिव को समर्पित मंदिर है। यह मंदिर 800 वर्ष से भी अधिक पुराना और प्राचीन मंदिर है।

ताड़केश्वर महादेव मंदिर, वलसाड
                     ताड़केश्वर महादेव मंदिर, वलसाड

 

तीथल बीच

तीथल शहर के पास वलसाड जिले में स्थित तीथल बीच स्थित हैं। जो कि यह बीच गुजरात और वलसाड जिले के सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण केंद्रों में से एक है। साथ ही समुद्र तट के तट पर अंतर्राष्ट्रीय पतंग महोत्सव और तीथल बीच महोत्सव का भी आयोजन किया जाता है।

तीथल बीच
                                      तीथल बीच

कालियान बाज

कैलियन बाउग को 1931 में जे.एच.ग्रेट ने खोला था। यह वलसाड शहर के प्राचीन स्थान में से एक है। कालियान बाज को श्री मोतीलाल कालियानजी ने 1929 में अपने पिता की याद में पार्क को बुलसार नगर पालिका के लिए दान में दे दिया था।

 

मोरारजी देसाई संग्रहाल

यह संग्रहालय भारत के पूर्व 5 वें प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई को समर्पित है। गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने इस संग्रहालय का उद्घाटन किया था। संग्रहालय को वलसाड नगरपालिका द्वारा 4 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया था।

मोरारजी देसाई संग्रहालय
                       मोरारजी देसाई संग्रहालय

 

वलसाड कैसे पहुंचे

ट्रेन से

मुंबई-वडोदरा मेनलाइन पर एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है जो कि भारत के सभी प्रमुख शहरों से रेल द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

फ्लाइट से

यहां का सबसे पास का हवाई अड्डा सूरत हवाई अड्डा है जो कि राजकोट, हैदराबाद, कोलकाता, पटना, कांडला, मुंबई और दिल्ली के लिए नॉन स्टॉप दैनिक उड़ानों से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।