मिर्जापुर में घूमने की जगह। Places to visit in Mirzapur

भारत की धार्मिक नगरी काशी से करीब 61 कि.मी की दूरी पर स्थित मिर्ज़ापुर शहर उत्तर प्रदेश का एक बहुत महत्वपूर्ण शहर है, जो कि प्राकृतिक, ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रूप से बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है। पर्यटन की दृष्टि से भी मिर्जापुर एक बहुत अच्छा स्थल है। जहां लोग बड़ी संख्या में देश-विदेश से यहां आते हैं।

मिर्जापुर में घूमने की जगह। Places to visit in Mirzapur


 

अष्टभुज मंदिर

यह मंदिर देवी पार्वती को समर्पित है जो कि माता पार्वती जी का ही एक रूप अष्टभुज देवी है। यहां के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक अष्ठभुज मंदिर हैं। यहां की विंध्या श्रृंखलाओं के ऊपर स्थित यह मंदिर ऐतिहासिक और धार्मिक दोनों रूपों में ही महत्व रखता है। यह मंदिर यहां की पहाड़ियों के मध्य एक गुफा में देवी अष्टभुज स्थित है।

अष्टभुज मंदिर - मिर्ज़ापुर
अष्टभुज मंदिर- मिर्ज़ापुर

 

व्यंधाम जलप्रपात

मिर्जापुर शहर में आप धार्मिक स्थलों के अलावा यहां के प्राकृतिक स्थलों की भी सैर कर सकते हैं। व्यंधाम जलप्रपात को प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में गिना जाता है। चट्टानों के रास्ते से बहती हुई यह नदी इस स्थल को एक छोटे जलप्रपात का रूप में बदल देती है। इस बहती हुई नदी में स्नान के साथ-साथ ही आप यहां के प्राकृतिक नजारों का आनंद भी ले सकते हैं। एक अंग्रेज अफसर के नाम पर ही इस झरने का नाम पड़ा है।

व्यंधाम जलप्रपात- मिर्ज़ापुर
व्यंधाम जलप्रपात- मिर्ज़ापुर

 

विंध्यवासिनी मंदिर

मिर्जापुर शहर के विंध्यवासिनी मंदिर भी आप दर्शन के लिए आ सकते हैं। यह मंदिर दुर्गा को समर्पित है, ओर साथ ही देशभर के श्रद्धालुओं का ध्यान भी अपनी ओर आकर्षित करता है। यह मंदिर सती के प्रसिद्ध शक्तिपीठों में से एक है। और खास बात ये है कि इस मंदिर में शादी भी की करवाई जाती है, ताकी नवविवाहितों को मां विंध्यवासिनी का आशिर्वाद प्राप्त हो।

विंध्यवासिनी मंदिर- मिर्ज़ापुर
विंध्यवासिनी मंदिर- मिर्ज़ापुर

 

चुनार का किला

यह स्थल आम पर्यटकों के साथ खासकर इतिहास प्रेमियों के लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण स्थान है। यह स्थल धार्मिक महत्व के साथ-साथ ऐतिहासिक रूप से भी काफी लोकप्रिय है, जिसका सबसे अच्छा उदाहरण यहां पर स्थित चुनार का किला है। साथ ही इस किले के पास पवित्र गंगा नदी भी बहती है। जो कि इस किले की सुंदरता को और भी बढ़ा देती हैं। नदी के बहते पानी की आवाज को भी इस किले से सुना जा सकता है।

चुनार का किला- मिर्ज़ापुर
चुनार का किला- मिर्ज़ापुर

 

कालीखोह मंदिर

इन सब के अलावा मिर्जापुर शहर के काली खोह मंदिर के दर्शन भी कर सकते हैं। यह मंदिर काली को समर्पित है, जो कि विंध्या की पहाड़ियों पर स्थित है। साथ ही यहां रोज ही श्रद्धालुओं की अच्छी खासी भीड़ होती हैं। और यह स्थान प्राकृतिक रूप से भी काफी महत्वपूर्ण है। और सबसे अच्छी बात यहां का कुदरती नजारे देखने लायक होता हैं, जो यहां लोगों के आकर्षण का केंद्र है।

 

 

 

 

 

कालीखोह मंदिर- मिर्ज़ापुर
कालीखोह मंदिर- मिर्ज़ापुर                                                                                                                                                                                                                                                                     

दोस्तों यदि यह जानकारी  आपको  पसंद आई हो तो  इसे  अपने  दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ।