खरगौन में घूमने की जगह। Places to visit in Khargon

मध्यप्रदेश के पश्चिमी एरिया में स्थित खरगोन जिला नदी के तट पर स्थित एक बहुत ही खूबसूरत शहर है। जो की कपास जिनिग और नवग्रह मंदिर का एक प्रमुख केंद्र है। साथ ही खरगोन और उसके आसपास घूमने के लिए बहुत सारी अच्छी जगह है।जो हमेशा आकर्षण का केंद्र बना होता है।

खरगौन में घूमने की जगह। Places to visit in Khargon


 

महेश्वर

खरगोन से लगभग महेश्वर 60 किमी है तथा इंदौर से 82 किमी की दुरी पर स्थित है। यह एक बहुत ही प्राचीन स्थित है जहा पुरे देश और दुनिया से लोग घूमने आते है। महान देवी अहिल्याबाई होल्कर की राजधानी महेश्वर रहा है। माँ नर्मदा नदी के किनारे बसा महेश्वर एक सुन्दर शहर है। इसके साथ ही यह शहर अपने बहुत ही भव्य और सुंदर घाट तथा महेश्वरी साड़ियों के लिये भी जाना जाता है।

 महेश्वर - खरगौन
महेश्वर – खरगौन

 

मण्डलेश्वर

यह शहर भी नर्मदा के किनारे बसा हुआ है। जो कि महेश्वर से 8 किमी दूरी पर है। इस नगर में शीतला माता, कशी विश्वेशवर मंदिर, छप्पन देव मंदिर, दत्त मंदिर, नाग मंदिर और राम मंदिर अत्यंत प्राचीन एवं दर्शनीय है। साथ ही मंडलेश्वर से 8 किमी की दूर एक बड़ा ही ऐतिहासिक ग्राम है ग्राम चोली। यहाँ पर बड़ा गणपति, चौसठ योगिनी और पांडव युगीन महादेव का मंदिर भी है।

मण्डलेश्वर - खरगौन
मण्डलेश्वर – खरगौन

 

ऊन

इस जगह पर प्राची लक्ष्मी नारायण मंदिर है।खजुराहो के अलावा मात्र यही पर परमार कालीन प्राचीन मंदिर स्थित है। यहाँ पर परमार कालीन शिवजी का मंदिर है और इसके साथ ही जैन मंदिर भी स्थित है जिसके कारन इस जगह को जाना जाता है। और यहां दूर दूर से लोग दर्शन करने आते है।

ऊन - खरगौन
ऊन – खरगौन

 

श्री नवग्रह मंदिर

यह खरगोन स्थित कुंदा नदी के किनारे एक बहुत ही प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर सूर्य देव और नव गृह मंदिर है साथ ही यहां हर साल जनवरी फरवरी के महीने में एक भव्य मेले का आयोजित किया जाता है।

श्री नवग्रह मंदिर - खरगौन
श्री नवग्रह मंदिर – खरगौन

 

चिड़िया भड़क

इस जगह पर प्रकृति का सुन्दर नज़ारा देखने को मिलता है। यह जगह खरगोन शहर के बड़वाह के पास एक नदी समान झरना है। यहाँ लोग दूर दूर से अपने परिवार और दोस्तों के साथ अक्सर वीकेंड में पिकनिक मानाने आते है।

चिड़िया भड़क - खरगौन
चिड़िया भड़क – खरगौन

 

नागलवाड़ी शिखर धाम

यह स्थान खरगोन से 50 किमी दूर स्थित है। यह मंदिर सतपुड़ा की वादियों में पहाड़ी पर स्थित है। यह भीलटदेव धाम है। इस जगह का नज़ारा देखने योग्य होता है बारिश के मौसम में यह जगह और भी मनभावन हो जाती हैं चारो तरफ हरयाली और पास से गुजरते बादल देखकर आनंद प्राप्त होता है।

नागलवाड़ी शिखर धाम - खरगौन
नागलवाड़ी शिखर धाम – खरगौन

 

सिरवेल महादेव मंदिर

खरगोन से लगभग 55 किमी की दूरी पर स्थित सिरवेल महादेव मंदिर के बारे में ऐसी मान्यता है की रावण ने अपने 10 सिर यही भगवान शिव को समर्पित किये थे। इसलिए इस जगह का नाम सिरवेल महादेव पढ़ गया। यह सतपुड़ा पर्वत में आता है तथा यह स्थान झरने के लिए भी काफी प्रसिद्ध है।

सिरवेल महादेव मंदिर - खरगौन
सिरवेल महादेव मंदिर – खरगौन

 

पावागीरी तीर्थ ( उनो तीर्थ )

खरगोन से 18 किमी की दुरी पर बड़ोदरा रोड पर स्थित यह स्थान जिसे बारवी शताब्दी में बनाया गया था यहाँ कई सारे हिन्दू और जैन है। यह 12 मंदिरो का एक समूह है।

पावागीरी तीर्थ ( उनो तीर्थ ) - खरगौन
पावागीरी तीर्थ ( उनो तीर्थ ) – खरगौन

पेशवा बाजिराओ समाधी स्थल

पेशवा बाजिराओ की समाधी खरगोन शहर की सनावद तहसील से लगभग 30 किमी दूर रावेरखेड़ी में स्थित है। बाजीराव एक ऐसे योद्धा थे जिन्होंने कभी कोई युद्ध पर पराजय नहीं किया। पेशवा बाजीराव के ऊपर बॉलीवुड की एक फिल्म ( बाजीराव मस्तानी ) भी बनाई गई है जिसमे उनके बचपन से लेकर मृत्यु तक का पूरा चित्रण बहुत ही सुन्दर तरीके सेदिखाया गया है।

पेशवा बाजिराओ समाधी स्थल - खरगौन
पेशवा बाजिराओ समाधी स्थल – खरगौन

मध्य प्रदेश के खरगौन जिले के मुख्य पर्यटन स्थलों की जानकारी आपको कैसी लगी , यदि जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ।