इस मकबरे को देखकर बनाया गया था ताजमहल, नक्‍काशी देख आप भी हो जायेंगे कायल

ताज के शहर आगरा में जब कोई घूमने जाता है तो वह सिर्फ ताजमहल के इर्दगिर्द ही सिमट कर रह जाता है ऐसे में आज के इस पोस्ट में हम आगरा के एक ऐसी जगह के बारे में बताने वाले है जहाँ आपको जरूर जाना चाहिए।

image: insta/@scandicnor

आज हम जिस जगह के बारे में बात कर रहे है उसे अक्सर छोटा ताज भी कहा जाता है, जी हाँ हम एतमाद-उद-दौला मकबरा के बारे में ही बात कर रहे है।

यह मकबरा यमुना नदी के किनारे स्थित है। इस मकबरे के आस-पास कई मकबरे हैं जिसकी वजह से अक्सर लोग इसे देखना मिस कर देते हैं।

यह मकबरा भारत में बना पहला मकबरा है जो पूरी तरह सफेद संगमरमर से बनाया गया था, अपनी खूबसूरती के कारण यह मकबरा आभूषण बक्‍से के रूप में जाना जाता है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by INDIA (@india_is_here_)

इसकी दीवारों पर पेड़ पौधों, जानवरों और पक्षियों के चित्र उकेरे गए हैं। कहीं कहीं आदमियों के चित्रों को भी देखा जा सकता है जो एक अनोखी चीज है।

इतिमद-उद-दौला का मकबरा नूरजहां के पिता मिर्जा गियास बेग को समर्पित है। इतिमद-उद-दौला उनकी उपाधि थी। यमुना नदी के किनारे स्थित इस मकबरे का निर्माण 1626-28 ईसवी में किया गया था।

बेबी ताज के नाम से मशहूर इस मकबरे की कई चीजें ऐसी हैं जिन्हें बाद में ताजमहल बनाते समय अपनाया गया था। लोगों का कहना है कि कई जगह यहां की नक्‍काशी ताजमहल से भी ज्‍यादा खूबसूरत लगती है।

image: insta/@oneoceanaway_

ये भी पढ़ें: ताजमहल के अलावा आगरा में बेहद खास हैं ये टूरिस्ट प्लेस, देखें खूबसूरत तस्वीरें