उत्तराखंड में स्थित मिनी कश्मीर है यह हिल स्टेशन, सर्दियों में खूबसूरती ऐसी कि नजारे नहीं भूल पाएंगे आप!

सर्दियाँ शुरू हो चुकी है और लोग अपने अपने छुटियों में घूमने की प्लानिंग भी करना शुरू कर चुके है, ऐसे में अगर आप भी कहीं घूमने जाने की सोच रहे है तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए ही है।

आज हम उत्तराखंड के एक ऐसी हिल स्टेशन के बारे में आपको बताने जा रहे है जो सर्दियों के मौसम में कश्मीर से भी खूबसूरत बन जाता है। तो आइए जानते है इस बेहद ही खूबसूरत हिल स्टेशन के बारे में विस्तार से –

उत्तराखंड में बसा मिनी कश्मीर

दोस्तों हम बात कर रहे है उत्तराखंड के कुमाऊं में बसे मुनस्यारी के बारे में, यह हिल स्टेशन उत्तराखंड के पिथौरा जिले में स्थित है जिसकी सुंदरता देखते ही बनती है।

ऊंचे पहाड़ और चोटियों के सुंदर नजारों के कारण इसे मिनी कश्‍मीर भी कहा जाता है। प्रकीर्ति से प्यार करने वालों के लिए यह जगह किसी जन्नत से तनिक भी कम नहीं है।

ट्रेकिंग ट्रेल्स के लिए भी यह जगह काफी मशहूर है। लेकिन इसके आसपास घूमने वाली कई ऐसी जगह हैं, जहां आप छुट्टियां मनाने जा सकते हैं।

देशभर से आते है लोग

मुनस्यारी के ठीक सामने पंचाचूल पर्वत स्थित है जिसकी काफी महत्ता है और यहाँ आने वाले पर्यटक इसे निहारते है। और मुनस्यारी में पंचाचूल पर्वत पर्यटकों में खूब आकर्षण का केंद्र है और देशभर से लोग पंचाचुली पर्वत को देखने आते हैं।

पंचाचूल पर्वत पर पांच चोटियाँ है, इन चोटियों को पांच पांडवों से जोड़कर देखा जाता है। मान्यता है की पांडवों की धर्मपत्नी द्रौपदी ने स्वर्गारोहण यात्रा करने से पहले अंतिम बार इसी स्थान पर भोजन पकाया था।

मुनस्यारी में घूमने की जगह

  • ट्यूलिप गार्डन
  • नंदा देवी मंदिर
  • थमरी कुण्ड
  • आदिवासी हेरिटेज संग्रहालय
  • बैतूली धार मुनस्यारी
  • मिलम ग्लेशियर
  • माहेश्वरी कुंड
  • कालामुनी मंदिर
  • गोरी गंगा नदी
  • दरकोट
  • मदकोट

कैसे पहुंचे मुनस्यारी ?

आपको बता दे कि पहाड़ों पर स्थित होने की वजह यहाँ पहुंचने का एक ही मार्ग है वह है सड़क मार्ग, लेकिन अच्छी बात यह है कि आपको मुनस्यारी जाने के लिए बस, शेयर टैक्सी और प्राइवेट टैक्सी सब कुछ आसानी से उपलबध हो जाता है।

मुनस्यारी जाने के लिए आपको अपने शहर से सबसे पहले कुमाऊं का प्रवेश द्वार कहे जाने वाले शहर हल्द्वानी पहुंचना होगा, यहाँ से आप अपने सुविधा अनुसार बुकिंग कर सकते है। बता दे कि हल्द्वानी अच्छी तरह से सड़क, रेल और वायु मार्ग से देश के बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है।