यह है भारत की सबसे धीमी ट्रेन जिसकी यात्रा के लिए कायल रहते है टूरिस्ट, एक बार तो बनती है सवारी

Slowest Train India :  आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में आए दिन नए नए तेज गति के यातायात साधानों के बारे में हमे सुनने को मिलता है। भारत में भी तेज गति की ट्रेनों से लेकर कई शाही ट्रेंस हैं जो की अपनी राजशाही मेहमान नवाजी के लिये दुनिया भर में प्रसिद्ध है।

आज तक आपने तेज़ गति से चलने वाली दुनिया की बहुत सी ट्रेन्स के बारे में सुना होगा, लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं, भारत की सबसे धीरे चलने वाली ट्रेन के बारे में-

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Incredible India (@incredibleindia)


भारत में सबसे धीमी गति से चलने वाली ट्रेन का नाम है ‘मेट्टुपलायम ऊटी नीलगिरी पैसेंजर ट्रेन’ (नीलगिरि माउंटेन ट्रेन/रेलवे) है। यह ट्रेन आज से ही नहीं बल्कि कई सालों से इसी गति से चल रही है ।

यह ट्रेन इतनी धीमी चलती है कि इस ट्रेन का नाम यूनेस्को विश्व धरोहर में भी शामिल है। कहा जाता है कि धीमी चलने के बाद भी लोगों के बीच यह ट्रेन आकर्षण का केंद्र है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Nitika Qazi (@nitika_qazi)

क्या है इस ट्रेन का रूट

यह ट्रेन तमिलनाडु के ऊटी में चलती है | भाप से चलने वाली यह ट्रेन खूबसूरत वादियों, ऊंचे-ऊंचे पहाड़ और घने जंगलों के बीच से होकर शानदार दृश्य दिखाते हुए लेकर गुजरती है।

यह ट्रेन मेट्टुपालयम से ऊटी के बीच में चलती है और बीच में कई स्टेशन पर भी रुकती है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by INDIA (@walkwithindia)

क्या है ट्रेन की स्पीड

मेट्टुपलायम ऊटी नीलगिरी पैसेंजर ट्रेन की स्पीड के  46 किलोमीटर की दूरी लगभग 5 घंटे में तय करती है। कहा जाता है, कि यह ट्रेन 10 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से भी कम स्पीड पर चलती है। यह ट्रेन रुक रुक कर 6-7 घंटे में 46 किलोमीटर का सफर तय करती है |

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sana Habib (@pastelstudiobysana)

अंग्रेजों के ज़माने कि यह ट्रेन

इस ट्रेन नीलगिरी माउंटेन रेलवे का निर्माण अंग्रेजों करवाया था। ब्रिटिश काल में अंग्रेज अधिक इस ट्रेन में बैठकर हसीन वादियों को देखने निकलते थे। इस ट्रेन के डिब्बे लकड़ी के बने हुए हैं और बाहर देखने के लिए खिड़कियां लगी है, जिससे पर्यटक इन खूबसूरत वादियों के नज़ारो का आनंद ले सकेंगे |