लद्दाख में सिर्फ रेतीले पहाड़ ही नहीं बल्कि हरी-भरी वादियों वाला ये खूबसूरत मिनी गुलमर्ग भी है!

Ladakh Trip : अगर आप घूमने का शौक रखते हैं और अभी तक लद्दाख की यात्रा आपने नहीं की है तो ये बात तो हम विश्वास के साथ कह सकते हैं कि लद्दाख जाना आपकी ड्रीम लिस्ट में जरूर होगा।

आखिर ऐसे ही लद्दाख को घुमक्कड़ों का ड्रीम डेस्टिनेशन नहीं कहा जाता, प्रकृति ने इस अद्भुत जगह को बेहिसाब खूबसूरती प्रदान की है। प्रकृति प्रेमियों के लिए तो यह जगह किसी जन्नत से कम बिलकुल नहीं लेकिन इसके साथ ही एडवेंचर प्रेमियों, इतिहास प्रेमियों और सुकून चाहने वाले पर्यटकों के लिए भी लद्दाख एक शानदार जगह है।

वैसे आम तौर पर लद्दाख को रेतीली पहाड़ियों से घिरा स्थान माना जाता है लेकिन आज के हमारे इस लेख में हम आपको लद्दाख की एक ऐसी छिपी हुई हरियाली से भरी जगह के बारे में बताने वाले हैं जिसे लद्दाख का ‘मिनी गुलमर्ग’ भी कहा जाता है। चलिए बताते हैं आपको इसकी पूरी जानकारी…

सांकू, लद्दाख
हम जिस अद्भुत और सुन्दर स्थान की बात कर रहे हैं वो है भारत के केन्द्रशासित प्रदेश लद्दाख के कारगिल जिले में स्थित सांकू घाटी। यह खूबसूरत घाटी लद्दाख में होने के बाद भी अपनी हरियाली से भरी वादियों और बर्फीले पहाड़ो के नज़ारों के लिए जानी जाती है।

यह खूबसूरत घाटी हरियाली और रंग-बिरंगे फूलों से सजी एक अद्भुत जगह है जिसकी एक झलक भी आपकी लद्दाख की वो रेतीले पहाड़ों वाली छवि बदल देगी। आपको बता दें कि यह सुन्दर घाटी सुरू नदी और नाकपोचू नदी के किनारे बसी है।

यहाँ आपको अलग-अलग रंगो से रंगी पहाड़ियों के अलावा कई तरह के फूल  जैसे जंगली गुलाब, मैरिकेरिया, चिनार आदि भी देखने को मिलते है। यह अद्भुत घाटी समुद्रतल से करीब 9524 फ़ीट की ऊंचाई स्थित है।

सांकू के पर्यटन स्थल
जैसा कि हमने आपको बताया कि सांकू में जिधर आपकी नज़र जाएगी आपको हरियाली, रंग-बिरंगे फूल और प्राकृतिक खूबसूरती ही मिलेगी। लेकिन प्राकृतिक खूबसूरती के अलावा भी सांकू में कुछ अन्य पर्यटन स्थल हैं जहाँ आप जा सकते हैं।

इन सभी पर्यटन स्थलों में से प्रमुख बताया जाता है कर्पो खार तीर्थ स्थल। आपको बता दें कि सांकू एक मुस्लिम विद्वान-धर्मगुरु, सैयद मीर हाशिम के इस प्राचीन तीर्थस्थल के लिए भी लोकप्रिय है।

इसके अलावा भी सांकू में देखने को काफी कुछ है जैसे आप कार्तसे घाटी में ट्रेक पर जा सकते हैं जहाँ आपको हर जगह अद्भुत नज़ारे देखने को मिलेंगे।

अगर आप ट्रैकिंग न करना चाहें तो इसके अलावा भी आप कार्तसे नदी किनारे बैठकर बेहद सुन्दर कार्तसे घाटी के नज़ारों को देखने का आनंद उठा सकते हैं। इसके अलावा सांकू से कुछ ही दूरी पर द्रुंग ग्लेशियर भी स्थित है जहाँ आपको जरूर जाना चाहिए जो कि लद्दाख का एक प्रमुख पर्यटन स्थल भी है।

सांकू कैसे पहुंचे?
सांकू पहुँचने के लिए अगर आप हवाई या फिर रेल मार्ग से आना चाहते हैं तो पहले आप श्रीनगर पहुँच सकते हैं और फिर वहां से आप टैक्सी के साथ या फिर कारगिल या लेह की ओर जाने वाली बस पकड़कर सांकू तक पहुँच सकते हैं।

इसके अलावा आपको लेह या फिर कारगिल से आसानी से सांकू के लिए बस मिल जाएगी। अगर आप खुद के वहां से जाना चाहते हैं तो आप चाहें तो श्रीनगर से या फिर लेह से आसानी से सांकू पहुँच सकते हैं।

आपको बता दें कि सांकू श्रीनगर और लेह के एकदम मध्य में पड़ता है जिसकी दूरी श्रीनगर और लेह दोनों से करीब 250 किलोमीटर ही है।

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इस आर्टिकल को लाइक और शेयर जरूर करें और ऐसी ही अन्य जानकारियों के लिए हमसे जुड़े रहें।

ऐसी अनेक जगहों के हमारे वीडियो देखने के लिए आप हमें हमारे इंस्टाग्राम अकाउंट @weandihana और यूट्यूब चैनल WE and IHANA पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Instagram अकाउंट: https://www.instagram.com/weandihana/

YouTube चैनल लिंक: https://youtube.com/c/WEandIHANA