गुलाबी नगरी जयपुर में गुलाबी नहीं बल्कि खास है पीले रंग की यह सबसे ऊँची ऐतिहासिक ईमारत!

गुलाबी नगरी जयपुर गुलाबी ठंडक की दस्तक के साथ ही देशी-विदेशी पर्यटकों से रंगीन होती जा रही है। आखिर क्यों नहीं, जयपुर घूमने के लिए यह मौसम सबसे बेहतरीन बताया जाता है।

अब पर्यटन की दुनिया में राजस्थान की राजधानी जयपुर का महत्त्व किसी को बताने की जरुरत नहीं है, देश ही नहीं बल्कि विदेशी पर्यटकों के बीच भी पिंक सिटी काफी लोकप्रिय है।

जयपुर में आपको अनेकों ऐतिहासिक इमारतें देखने को मिलती हैं लेकिन क्या आपको पता है कि इस खूबसूरत शहर में सबसे ऊँची ऐतिहासिक ईमारत गुलाबी नहीं बल्कि पीले रंग की है।

सिर्फ ऊंचाई ही नहीं बल्कि इसकी बनावट भी पर्यटकों को खासा आकर्षित करती है और अगर आप इसके ऊपर से जयपुर शहर का नज़ारा देख लें तो यकीन मानिये यह नज़ारा हमेशा के लिए आपके मन में सेव हो जायेगा।

ईसरलाट (सरगासूली)
गुलाबी नगरी में मौजूद यह करीब 140 फ़ीट ऊँची पीली ईमारत ईसरलाट एक 7 मंजिला ईमारत है। आपने चित्तौड़गढ़ में स्थित विजय स्तम्भ के बारे में जरूर सुना होगा लेकिन क्या आपको पता है कि जयपुर शहर में भी चित्तौड़गढ़ विजय स्तम्भ जैसा एक विजय स्मारक मौजूद है।

बताया जाता है कि इसका निर्माण 1749 में महाराजा सवाई ईश्वरी सिंह ने एक घनघोर युद्ध में अपनी विजय के पश्चात विजय प्रतीक के तौर पर करवाया था और इसी वजह से यह ईसरलाट के नाम से जाना जाता है।

साथ ही आपको बता दें कि यह ईमारत सरगासूली नाम से भी जानी जाती है और इस नाम के पीछे की वजह यह बताई जाती है कि नीचे से देखने पर यह स्वर्ग को छूती हुई प्रतीत होती है।

ईसरलाट की बनावट
जैसा की हमने आपको बताया कि यह ईमारत जयपुर की सबसे ऊँची ईमारत है जिसकी ऊंचाई करीब 140 फ़ीट है और इसमें कुल 7 मंजिल हैं।

इसका निर्माण इतनी खूबसूरती से किया गया है कि इसकी पहली झलक ही आपको इसकी वास्तुकला का दीवाना बना देगी।

इसके अंदर ही एक घुमावदार रैंप भी है जिसकी सहायता से आप इसके टॉप पर पहुँच सकते हैं और टॉप पर पहुँचने के बाद आपको जो नज़ारा जयपुर शहर का दिखाई देता है वो वाकई लाजवाब होता है। आपको बता दें कि इतना ऊँचा स्मारक होने की वजह से पहले के समय में यह एक वॉच टावर के रूप में भी काम आता था।

ईसरलाट में प्रवेश टिकट और प्रवेश समय
आपको बता दें कि ईसरलाट देखने भारतीय पर्यटकों के लिए टिकट 55 रुपये है और विदेशी पर्यटकों के लिए इसकी कीमत 205 रुपये है। लेकिन स्टूडेंट्स के लिए इसमें विशेष छूट दी गयी है जिससे स्टूडेंट्स के लिए प्रवेश शुल्क सिर्फ 25 रुपये का है।

इसके अलावा अगर आप जयपुर के अन्य पर्यटन स्थलों को देखने के लिए कम्पोजिट टिकट लेते हैं तो ईसरलाट भी उस संयुक्त टिकेट में सम्मिलित होता है। इसके अलावा इस खूबसूरत ईमारत को आप हफ्ते में सातों दिन देख सकते हैं और इसका प्रवेश समय सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक रहता है।

कैसे पहुंचे?
जैसा कि आप जानते हैं कि जयपुर शहर पहुँचने के लिए आप हवाई, सड़क या फिर रेल मार्ग का इस्तेमाल करके आसानी से पहुँच सकते हैं क्योंकि तीनो ही मार्गों से जयपुर शहर देश के सभी छोटे बड़े शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

जयपुर पहुँचने के बाद आप किसी भी टैक्सी या सिटी बस के द्वारा त्रिपोलिया गेट तक पहुँच सकते हैं। त्रिपोलिया गेट से कुछ ही दुरी पर पुराना आतिश मार्केट है और उसी बाजार के बीचों-बीच स्थित है ये सुन्दर ईमारत ईसरलाट। जहाँ आप आसानी से पैदल भी जा सकते हैं।

तो अगर आप जयपुर में कुछ अलग जगह को एक्स्प्लोर करना चाहते हैं तो आपको ईसरलाट जरूर देखने जाना चाहिए। इससे जुडी जितनी जानकारी हमारे पास थी हमने आपसे साझा करने की कोशिश की है।

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो हमारे इस आर्टिकल को लाइक जरूर करें और ऐसी और जानकारियों के लिए आप हमसे जुड़ें रहें।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो ऐसी ही अन्य जानकारियों के लिए आप हमसे जुड़े रहें और साथ ही ऐसी ही खूबसूरत जगहों के हमारे वीडियो देखने के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल WE and IHANA और हमारे इंस्टाग्राम अकाउंट @weandihana पर हमें फॉलो भी कर सकते हैं।

Instagram अकाउंट: https://www.instagram.com/weandihana/

YouTube चैनल लिंक: https://youtube.com/c/WEandIHANA