कभी था आतंकियों का अड्डा आज है कश्मीर की सबसे खूबसूरत घाटी! लाखों पर्यटक की पहली पसंद

ये बात तो हम सभी जानते है की कश्मीर को भारत का स्वर्ग कहा जाता है। चारों तरफ से खूबसूरत वादियों और बर्फ से घिरे हुए पहाड़ो का दृश्य बहुत ही मनोरम लगता है। यहां का शांत  वातावरण और खूबसूरत घाटियों के बीच मैदानी क्षेत्र भारत के इस राज्‍य को सबसे खास बनाता है। जम्‍मू-कश्‍मीर में ऐसी कई जगहें हैं जहां आप घूम सकते हैं।

लेकिन आज हम जिस जगह के बारे में बताने जा रहें हैं, यह जगह बहुत ही खास है। हम बात कर रहे हैं जम्मू-कश्मीर के गुरेज वैली की हाल ही में इसको देश के बेस्ट ऑफबीट टूरिस्ट प्लेस का खिताब दिया गया है। आइए जानते हैं, इसके बारे में कुछ ख़ास बाते –

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Jamsheed hussain (@mousin_7)

आतंकी की घुसपैठ का रास्ता हुआ करती थी गुरेज़ वैली

गुरेज वैली की खूबसूरती को जीवन में एक बार हर किसी को देखना चाहिए। इसकी खूबसूरती जीवन भर के खूबसूरत अनुभवों में शामिल हो जायेगी। गुरेज वैली एक समय पर आतंकी की घुसपैठ का रास्ता हुआ करती थी यहां पर बमबारी की घटनाये भी होती रहती थी।

जिसके चलते पर्यटन की दृष्टि से यह जग सुरक्षित नहीं मानी जाती थी। लेकिन अब इस जगह पर सरकार ने सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम कर दिए हैं, जिसके चलते यह अब बिलकुल सुरक्षित है।

इतना ही नहीं अब यह जगह पर्यटकों की सबसे मनपसंदीदा घूमने की जगह बन गई है। इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता हैं  अब यहां बड़ी तादाद में टूरिस्ट्स आते हैं । आकंड़ो की माने तो गुरेज में पिछले साल रिकॉर्ड 0.4 मिलियन टूरिस्ट्स आए।

टूरिस्ट प्लेस बनाने की तैयारी ज़ोरो पर

गुरेज़ में बढ़ती हुई टूरिस्ट्स की संख्या को देखते हुए यहां पर इस जगह को पूरी तरह से टूरिस्ट प्लेस के रूप में तब्दील करने की तैयारी चल रही है। इससे पहले यहां पर ठहरने के लिए होटल और होम स्टेज की व्यवस्था नहीं थी।

लेकिन धीरे धीरे यहां पर पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए अब यहां के कई घर होटल और होम स्टे में तब्दील हो रहे हैं। गुरेज घाटी अभी तक कश्मीर का ऑफबीट टूरिस्ट स्पॉट है, लेकिन सैलानी की बढ़ती संख्या को देख कर लगता है की यह जल्द ही कश्मीर का मैन टूरिस्ट हब बन जाएगा।

 

भारतीय सेना को श्रेय

गुरेज घाटी का एक बड़ा टूरिस्ट्स प्लेस बनना किसी चमत्कार से कम नहीं है। आतंक का गढ़ माने जाने वाली देश की यह घाटी को ऑफबीट टूरिस्ट प्लेस बनाने का पूरा श्रेय  भारतीय सेना को जाता है।