शिवजी का सबसे अनोखा मंदिर जहाँ हर 2 सेकंड में होता है जलाभिषेक, पांडवों से जुड़ी है कहानी

Gangeshwar Mahadev

Gangeshwar Mahadev : भारत में बहुत से मंदिर हैं,  और हर मंदिर से एक अलग कहानी और इतिहास जुड़ा होता है। यहां पर आपको प्राचीन देवी-देवताओं के अद्भुत मंदिर देखने को मिल जाएंगे। आज हम आपको एक ऐसे ही अनोखे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं |

हम बात कर रहें हैं श्री गंगेश्वर महादेव मंदिर की जो की दमन और दीव के बीच में स्थित है। इस मंदिर का शिवलिंग अपने आप में बहुत ख़ास है | यह एक गुफा मंदिर है जो की समुन्द्र की चट्टानों के बीच में स्थित है |

इस मंदिर में पांच शिवलिंग है, इन शिवलिंग का जलाभिषेक समुन्द्र की लहरें हर 2 सेकंड में करती है | ऐसे इस मंदिर का नजारा देखते ही बनता है | सावन के महीने में भी यहां लाखों श्रद्धालु महोदव के दर्शन के लिए आते हैं|

हजारों साल पुराना है मंदिर

यह मंदिर लगभग 5000 साल पुराना बताया जाता है, इस मंदिर का निर्माण महाभारतकाल में पांडवों ने किया था। इस मंदिर में स्थित पांच शिव लिंग इस बात की पुष्टि करते हैं |

समुन्द्र की लहरे हर शिव लिंग से टकराती हैं और फिर ये लहरें वापिस समुद्र में मिल जाती हैं। मंदिर में लहरों की आवाज़ साफ़ सुनाई देती हैं | यहां पर लाखो की संख्या में लोग दर्शन करने के लिए आते हैं |

मंदिर से जुडी मान्यताऐं

पुरानी मान्यताओं कि माने तो पांचों पांडव अपने वनवास के समय में यहां आये थे और उसी दौरान उन्होंने इस मंदिर का निर्माण किया था। ऐसा माना जाता है कि पांचों पांडव यहां हर रोज भगवान शिव की पूजा करने आते थे। गंगेश्वर मंदिर में शिव रात्रि का त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। सावन के महीने में भी यहां लाखों श्रद्धालु महोदव के दर्शन के लिए आते हैं|

इस मंदिर में भगवान शिव साथ- साथ भगवान गणेश, भगवान विष्णु और देवी लक्ष्मी माता की भी मूर्ति स्थापित है। यह मंदिर भगवन शिव की पूजा करने के साथ-साथ इन देवताओं को भी पूजा जाता है |