उत्तराखंड में यहाँ मखमली घास वाली पहाड़ी के टॉप पर बना है परियों का मंदिर!

हमारे देश का पहाड़ी राज्य उत्तराखंड देवभूमि होने के साथ ही प्रकृति प्रेमियों के लिए स्वर्ग के तौर पर भी जाना जाता है।

अगर आपको प्रकृति की वास्तविक खूबसूरती देखनी है और प्रकृति के बेहद करीब जाकर सुकून से कुछ समय बिताना है तो इसके लिए उत्तराखंड भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की सबसे बेहतरीन जगहों में से एक होगा।

इसीलिए देश-विदेश से लाखों लोग हर वर्ष उत्तराखंड के अनेक लोकप्रिय पर्यटन स्थलों की यात्रा करते हैं। इसी वजह से देवभूमि के अधिक लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में पर्यटकों की काफी भीड़ भी देखने को मिलती है l

https://www.instagram.com/p/C0UpF4YS4mV/?igshid=MzRlODBiNWFlZA==

इसीलिए आजकल सुकून ढूंढ़ते पर्यटक ऐसी सुकून भरी जगहों की तलाश में रहते हैं जहाँ प्राकृतिक खूबसुरति तो भरपूर हो लेकिन वह घुम्मकड़ों की भीड़ से न भरा हो।

आज के हमारे इस लेख में हम आपको उत्तराखंड की एक ऐसी ही खूबसूरत जगह के बारे में बताने वाले हैं।

मोइला बुग्याल (मोइला टॉप)
अगर बात सुकून की हो तो इस जगह से बेहतर क्या होगा जहाँ दूर-दूर तक हिमालय के खूबसूरत पहाड़ों के नज़ारों के साथ चारों ओर सुन्दर आकार की पहाड़ियां और उन पर बने मखमली घास के मैदान हों।

जी हाँ जिस जगह की हम बात कर रहे हैं वो उत्तराखंड के चकराता हिल स्टेशन से करीब 25-30 किलोमीटर दूर स्थित लोखंडी गाँव के पास मौजूद है।

यकीन कीजिये यहाँ बिना किसी भीड़ के इस मखमली घास पर बैठकर बिना कुछ किये सिर्फ घोड़ों और अन्य मवेशियों को घास चरते हुए देखना आपके जीवन के सबसे सुकून भरे पलों में शामिल हो जायेगा।

इस स्थान की प्राकृतिक छटा उत्तराखंड में आम तौर पर देखे जाने वाले परिदृश्यों से एकदम अलग दिखती है।

यह जगह इतनी शांत और सुन्दर है की यकीन मानिये इसकी पहली झलक ही आपके मन में हमेशा के लिए बस जाएगी।

इस जगह की खूबसूरती में चार चाँद लगाता है यहाँ एक पहाड़ी के टॉप पर बना एक बेहद प्राचीन और खूबसूरत मंदिर। चारों ओर घास के मैदान और बैकग्राउंड में ऊँचे-ऊँचे पेड़ों के साथ यह मंदिर वास्तव में एक बेहद अद्भुत नज़ारा पेश करता है।

जो एक ही झलक में आपके मन में इस जगह को लेकर जितनी मोहब्बत है उसे कई गुना कर देगा। दूर से यह मंदिर छोटा सा दिखता है और इस तक पहुँचाने वाला रास्ता लगता है जैसे मानो आकाश की तरफ ही ले जा रहा हो।

शायद इस वजह से ही इसका नाम परियों का मंदिर रखा गया है। परियों के मंदिर के अलावा भी आपको यहाँ एक सुन्दर प्राकृतिक झील भी देखने को मिलती है और इसके अलावा एक प्राचीन गुफा भी यहाँ मौजूद है जिसे बुधेर गुफा के नाम से जाना जाता है।

आपको बता दें कि यहाँ पहुँचने के लिए आपको सबसे पहले चकराता से लोखंडी गाँव पहुंचना होता है जो कि चकराता से करीब 18 किलोमीटर दूर है और फिर वहां से करीब 5-7 किलोमीटर दूर बुधेर गाँव पहुंचकर आप मोइला टॉप के लिए ट्रेक शुरू कर सकते हैं।

आपको बता दें कि यह ट्रेक करीब 2.5 किलोमीटर का है लेकिन बिलकुल मुश्किल नहीं है। हालाँकि ट्रेक कि शुरुआत में थोड़ी कठिनाई हो सकती है लेकिन यह पूरा ट्रेक आप आसानी से एक घंटे से भी काम समय में पूरा कर सकते हैं।

साथ ही इस बात का जरूर ध्यान रखें कि यहाँ आप खाने-पीने का सामान अपने साथ अवश्य रखें क्योंकि यहाँ आपको कोई दुकाने वगैरह नहीं मिलेगी। इसके अलावा यह जगह कैंपिंग के लिए भी शानदार जगह है तो अगर आप कैंपिंग करना चाहें तो उसके अनुसार सामान जरूर लेकर जाएँ।

तो अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो कृपया इस आर्टिकल को लाइक जरूर करें और साथ ही ऐसी अन्य जानकारियों के लिए हमसे जुड़े रहें।

साथ ही ऐसी अनेक जगहों के हमारे वीडियो देखने के लिए आप हमें हमारे इंस्टाग्राम अकाउंट @weandihana और यूट्यूब चैनल WE and IHANA पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Instagram अकाउंट: https://www.instagram.com/weandihana/
YouTube चैनल लिंक: https://youtube.com/c/WEandIHANA